नई दिल्ली । श्रीलंकाई क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) दिशानिर्देशों के अंतर्गत क्रिकेट खेलना सभी को  अजीब लगेगा, पर कोरोना वायरस संक्रमण के इस दौर में सुरक्षित रहने का इससे बेहतर तरीका नहीं है। आईसीसी ने कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए क्रिकेट की शुरुआत करने से पहले कई दिशानिर्देश जारी किये हैं। इसके साथ ही उसने कड़े नियम भी बनाये हैं। जैसे गेंद पर लार को इस्तेमाल नहीं होगा, खिलाड़ी हाथ नहीं मिलाएंगे और सामाजिक दूरी का पालन करेंगे। खेल खाली स्टेडियम में खेले जाएंगे। आईसीसी द्वारा जारी सुरक्षा कदमों में मुख्य चिकित्सा अधिकारियों की नियुक्ति शामिल है और मैच से पहले 14 दिन का पृथक अभ्यास शिविर तथा अंपायरों द्वारा गेंद को पकड़ने के लिए दस्ताने पहनना भी शामिल है। संगकारा ने कहा, ‘ यह सही है कि ये दिशानिर्देश खिलाड़ियों को रोकेंगे, उन्हें खेलने में बाधा आयेगी, यह सचमुच काफी अजीब होगा और जब मैं इसके बारे में सोचता हूं तो ये मुझे भी अजीब लग रहा है पर अभी सेहत और उसकी सुरक्षा सबसे पहले है।’ इसलिए इन नियमों का पालन करना ही होगा। इस समय स्वास्थ्य सबसे अहम है, विशेषकर खिलाड़ियों के लिए जिससे क्रिकेट में वापसी पर उनका आत्मविश्वास बढ़े और शायद कुछ समय बाद दर्शकों के लिए भी स्टेडियम खोले जा सकें।’संगकारा मेरिलबोन क्रिकेट क्लब (एमसीसी) के अध्यक्ष भी हैं, उन्होंने आईसीसी के दिशानिर्देशों के बारे में कहा, ‘यह सब आपसी भागीदारी में ही संभव होगा क्योंकि जब आप अनुबंध के अंतर्गत हो तो फिर आप नियोक्ता खिलाड़ियों के लिए सुरक्षित माहौल बनाने और इसके बारे में भरोसा दिलाने के लिए जिम्मेदार होते हैं।’