Madhya Pradesh Tourism

Home » » लोकसभा अध्यक्ष के उम्मीदवार के रूप में बिड़ला को मिला समर्थन, आज भरेंगे नामांकन

लोकसभा अध्यक्ष के उम्मीदवार के रूप में बिड़ला को मिला समर्थन, आज भरेंगे नामांकन

नई दिल्ली। 17वीं लोकसभा का बजट सत्र शुरू हो चुका है और आज इसका दूसरा दिन है। आज सदन में बचे हुए नवनिर्वाचित सांसदों का शपथ ग्रहण कार्यक्रम हो रहा। शपथ ग्रहण कार्यक्रम पूरा होने के बाद सदन के लिए स्पीकर का चुनाव होगा और इसके लिए एनडीए की तरफ से ओम बिड़ला का नाम तय किया गया है।
जहां एक तरफ सदन में शपथ ग्रहण हो रहा था वहीं दूसरी तरफ लोकसभा अध्यक्ष को लेकर कवायदें जारी थीं। ओम बिड़ला का नाम सामने आने के बाद केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा है कि बिड़ला के नाम का प्रधानमंत्री मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, गृहमंत्री अमित शाह और परिवहन मंत्री नीतीन गडकरी ने प्रस्ताव किया है और उनके प्रस्ताव पर बीजद, शिवसेना, नेशनल पिपुल्स पार्टी, मिजो नेशनल पार्टी, अकाली दल, लोजपा, YSRCP, JDU, AIADMK और Apna Dal ने समर्थन किया है।
हालांकि, अब तक कांग्रेस ने बिड़ला के नाम का समर्थन नहीं किया है लेकिन जोशी ने उम्मीद जताई कि कांग्रेस भी साथ आएगी।
वहीं उनकी पत्नी ने ओम बिड़ला को अध्यक्ष पद का उम्मीदवार चुने जाने पर खुशी जताते हुए कहा है कि यह हमारे लिए गर्व का मौका है।
खबरों के अनुसार संसद का बजट सत्र 26 जुलाई तक चलेगा। इससे पहले राष्ट्रपति ने सोमवार को प्रोटेम स्पीकर के रूप में इसके लिए डॉ. वीरेंद्र कुमार को शपथ दिलाई जो अब नवनिर्वाचित सांसदों को शपथ ग्रहण करवा रहे हैं। इसके बाद 19 जून यानी बुधवार को लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव होगा और इसके लिए ओम बिड़ला का नाम तय किया गया है। 20 जून को राष्ट्रपति संसद के दोनों सदनों को संबोधित करेंगे।
राजस्थान के कोटा से सांसद ओम बिड़ला 4 दिसंबर 1962 को राजस्थान के कोटा में जन्में थे और यहीं से सासंद भी हैं। उन्होंने महार्षि दयानंद सरस्वती अजमेर विश्विद्यालय के गवर्मेंट कॉमर्स कॉलेज से एमकॉम की पढ़ाई की।
दूसरी बार लोकसभा पहुंचे बिड़ला भाजपा के छात्र संगठन भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष और राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भी रहे। वहीं सांसद बनने से पहले बिरला कोटा दक्षिण क्षेत्र से तीन बार विधायक भी चुने जा चुके हैं। उन्होंने पहला विधानसभा चुनाव 2003 में जीता। इसके बाद 2008 में दूसरी बार जबकि 2013 में उन्होंने तीसरी बार चुनाव जीता। 2003 से 2008 तक उन्होंने राजस्थान सरकार में राज्यमंत्री रहते हुए संसदीय सचिव की जिम्मेदारी संभाली।

Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger