Madhya Pradesh Tourism

Home » » Fani Cyclone ने मचाई तबाही, भारतीय नौसेना ने शुरू किए बचाव और पुनर्वास कार्य

Fani Cyclone ने मचाई तबाही, भारतीय नौसेना ने शुरू किए बचाव और पुनर्वास कार्य

नई दिल्ली। चक्रवात "फणि" से हुई तबाही के बाद भारतीय नौसेना की पूर्वी कमान ने ओडिशा में बचाव और पुनर्वास कार्य प्रारंभ कर दिया है।
नुकसान का जायजा लेने के लिए नौसेना के डोर्नियर विमान ने क्षेत्र का दौरा किया। पूर्वी नौसेना कमान के फ्लैग ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ ने चक्रवात प्रभावित क्षेत्र का हवाई सर्वेक्षण किया।
हवाई सर्वेक्षण के आधार पर पूर्वी नौसेना कमान, राज्य सरकार और प्रशासन के सहयोग से पुनर्वास कार्य किए जा रहे हैं।
खाद्य सामग्री, आवश्यक चिकित्सा आपूर्ति व दवाइयां, कपड़े आदि वस्तुओं को पुरी के सबसे निकट स्थित नौसेना बेस आइएनएस चिल्का भेजा गया है। क्षतिग्रस्त पेड़ों और अन्य नष्ट समान को हटाने के लिए आरी एवं कुल्हाड़ी भी भेजे गए हैं।
पूर्वी बेड़े के तीन पोत समुद्र से ही बचाव और पुनर्वास कार्य कर रहे हैं। नौसैनिक पोतों आइएनएस रणविजय, कदमत्त और ऐरावत से तीन हेलीकॉप्टरों के जरिये जरूरतों की पूर्ति की जा रही है।
नौसेना द्वारा चेतक और यूएच3एच हेलीकॉप्टरों को राहत कार्यों और दुर्गम क्षेत्रों में राहत सामग्री पहुंचाने के लिए तैनात किया जा रहा है।
एनडीआरएफ की 16 और टीमें हुईं रवाना
ओडिशा के प्रभावित इलाकों के लिए एनडीआरएफ की 16 और टीमें रवाना हो गई हैं। प्रत्येक टीम में 45 कर्मी हैं। कैबिनेट सचिव पीके सिन्हा की अध्यक्षता में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति ने शनिवार को ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में तबाही के बाद राहत एवं बचाव कार्यों की समीक्षा की।
नीट परीक्षा ओडिशा में स्थगित
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने ओडिशा सरकार की सिफारिश पर पांच मई को निर्धारित नीट परीक्षा राज्य में स्थगित कर दी है।
नारियल के 10 हजार पेड़ आंध्र में उखड़े
आंध्र प्रदेश में चक्रवात के कारण नारियल के करीब 10 हजार पेड़ उखड़ गए हैं। फसलों को भी काफी क्षति हुई है।
चक्रवात से राज्य में अनुमान के मुताबिक करीब 58.61 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। ज्यादातर प्रभावित इलाकों में शनिवार को मोबाइल सेवाएं और बिजली आपूर्ति बहाल कर दी गई।

Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger