Madhya Pradesh Tourism

Home » » खालिस्तानी आतंकी कंता वलैतिया गिरफ्तार - हत्या, लूटपाट व डकैती के 17 मामले हैं दर्ज

खालिस्तानी आतंकी कंता वलैतिया गिरफ्तार - हत्या, लूटपाट व डकैती के 17 मामले हैं दर्ज

अमृतसर। खालिस्तान समर्थित आतंकी कुलवंत सिह उर्फ कंता वलैतिया आखिरकार पुलिस गिरफ्त में आ ही गया। बताया गया कि 1990 में वह देश छोड़कर चला गया। मगर बाद में केसीएफ संगठन में लेफ्टिनेंट जनरल बन गया। जानकारी सामने आई है कि उस पर हत्या, लूटपाट व डकैती के 17 मामले दर्ज हैं। उसे लेकर जानकारी सामने आई है कि 1980 के दशक में कंता वलैतिया खालिस्तान कमांडो फोर्स में लेफ्टिनेंट जनरल था।
उसने कई देश विरोधी गतिविधियों में भागीदारी निभाई। 1990 में वह किसी तरह देश छोड़कर जर्मनी चला गया और फिर 1994 में इंग्लैंड जाकर बस गया। मगर बाद में फिर भारत आ गया। 2007 में उसके भारत वापस आने की जानकारी सामने आई लेकिन वह सुरक्षा बलों के चकमा देता रहा। कुछ समय बाद उसने चंडीगढ़ में किराए से मकान ले लिया।
इसके कुछ सालों बाद करीब 2013 में उस पर नशा तस्करी और हथियार रखने का आरोप दर्ज हुआ। आरोपी के खिलाफ छेहरटा थाना पुलिस ने 27 नवंबर, 2013 को नशा तस्करी और हथियार रखने का मामला दर्ज किया था। तब से आरोपी फरार था। 2017 में अमृतसर की अदालत ने आरोपित कंता वलैतिया को भगोड़ा घोषित कर दिया।
टाडा में भी नाम.
कंता केसीएफ के आतंकवादी माणक राय निवासी बलविदर सिह बिल्ला का सहयोगी रहा है। कंता के खिलाफ कई थानों में टाडा का मामला दर्ज किया गया था।
साथियों को पकड़ने के लिए छापामारी
कंता का साथी सरबजीत सिह उर्फ पप्पू अभी जर्मनी में ही रह रहा है। धीरोवाल निवासी हरजात सिह कनाडा में है। तीसरा साथी घनुपुर काले निवासी जीवन सिह उर्फ फुम्मन की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापामारी कर रही है।

Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger