Madhya Pradesh Tourism

Home » » तबादलों पर बोले कमलनाथ- भाजपा का बिल्ला लेकर चलेंगे तो क्या पुरस्कार मिलेगा

तबादलों पर बोले कमलनाथ- भाजपा का बिल्ला लेकर चलेंगे तो क्या पुरस्कार मिलेगा

भोपाल। लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लगने से पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मध्य प्रदेश की जनता को 70 दिनों का रिपोर्ट कार्ड सौंपा। इसमें किसानों को दिया गया कर्ज माफी का वचन सबसे अहम है। सरकार ने अपने रिपोर्ट कार्ड में इसे सबसे ऊपर रखा है।
सीएम कमलनाथ ने बताया कि, "हमें 25 दिसंबर को भाजपा ने ऐसा राज्य सौंपा था। जो किसानों की आत्महत्या में नंबर वन था। जो महिला अपराध के मामले में नंबर वन था। ऐसे राज्य को हमने पटरी पर लाने का काम किया है। उन्होंने बताया कि 25 लाख किसानों का 10 हजार करोड़ का कर्जा अब तक माफ हो चुका है। हमने ये काम तब किया, जब प्रदेश का खजाना खाली था।" व्यवस्था में परिवर्तन के लिए हमने काउंसिल ऑफ गुड गर्वेंनस बनाई है।
मुख्यमंत्री कमलनाथ के मुताबिक जय किसान ऋण माफी योजना के तहत 55 लाख किसानों का दो लाख रुपए का कर्जा माफ किया गया है। कर्ज माफी की रकम का आंकड़ा 50 हजार करोड़ के पार है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि हमने अपनी क्षेत्र दिन की सरकार का रिपोर्ट कार्ड प्रस्तुत कर दिया है उम्मीद करते हैं भारतीय जनता पार्टी मध्यप्रदेश में रही अपने 15 साल की सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी 5 साल की केंद्र सरकार का रिपोर्ट कार्ड जनता के सामने रखेंगे।
कानून व्यवस्था को लेकर पूछे मुख्यमंत्री कमलनाथ उन्होंने कहा कि मेरे पास कोई जादू की छड़ी नहीं है, पिछले 15 साल में कानून व्यवस्था लचर थी, यह उस का ही नतीजा है जो हो रहा है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि मैंने फिल्म अभिनेता सलमान खान से चर्चा की है वह इंदौर से हैं, मैंने उनसे कहा है कि आप मध्य प्रदेश के लिए क्या योगदान कर सकते हैं। कमलनाथ ने टूरिज्म हेरिटेज सहित अन्य क्षेत्र में काम करने की इच्छा जाहिर की है। वह 1 से 18 अप्रैल तक मध्य प्रदेश में अपनी सेवाएं देंगे।
जन अभियान परिषद को बंद किए जाने पर हुए सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि अभी मैंने कुछ तय नहीं किया है, लेकिन इतना तय है कि राजनीतिक व्यक्ति वहां नहीं रहेंगे। परिषद जिस उद्देश्य के लिए बनाई गई थी वह काम नहीं हुआ है। अपनी सरकार का लेखा-जोखा पेश करने के दौरान कमलनाथ ने आदिवासियों को लेकर बड़ा ऐलान किया। उन्होंने कहा कि, आदिवासी वित्त विकास निगम और अनुसूचित जाति वित्त विकास निगम द्वारा दिए गए एक लाख तक के कर्ज को माफ किया जाएगा। इससे 83 फीसद लोग जुड़ेंगे।
सवर्ण आरक्षण पर ये बोले सीएम कमलनाथ
प्रदेश में ओबीसी को 27 फ़ीसदी और सवर्ण को 10 फ़ीसदी आरक्षण दिए जाने कर्म के मुद्दे पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि इसमें कहीं कोई समस्या नहीं है, तमिलनाडु में भी 50 फीसद से ज्यादा आरक्षण दिया जा चुका है। उस पर जब कोई कहीं सवाल नहीं उठा तो फिर इस पर क्यों? मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर अप्रत्यक्ष निशाना साधते उन्होंने कहा कि यहां अन्य पिछड़ा वर्ग के मुख्यमंत्री रहे हैं, लेकिन इस पर काम क्यों नहीं किया गया।
आतंक के मुद्दे पर देश को गुमराह कर रही मोदी सरकार: कमलनाथ
आतंकवाद और राष्ट्रवाद को लेकर देश में चल रही चर्चाओं मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि देश में जब सर्वाधिक आतंकी हमले हुए तब सरकार किसकी थी, मैं इस विषय की गहराई में नहीं जाना चाहता। लेकिन सच सभी के सामने है, मेरे पास पूरी सूची है। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि वह कह रहे हैं कि उनके नेतृत्व में देश सुरक्षित है तो हम पूछना चाहते हैं कि पहले क्या देश असुरक्षित था वे जनता को गुमराह कर रहे हैं जो ठीक नहीं है। आजादी के बाद जितने भी सैनिक संस्थान खोले हैं, क्या वह मोदी सरकार ने खोले हैं?
पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर उन्होंने कहा कि इस मसले को लेकर शंकाएं हो रही हैं। ऐसा नहीं है कि सर्जिकल स्ट्राइक पहले कभी नहीं हुई है कोई सबूत नहीं मांग रहा है अंतर्राष्ट्रीय एजेंसियां इस पर चर्चा कर रही हैं। वायु सेना प्रमुख ने भी बताया कि जो टारगेट ने दिया गया था, वह उन्होंने हिट किया। सत्संग का विषय स्ट्राइक बन गया है तो सरकार को देश के सामने सब देना चाहिए। इसमें गुप्त रखने जैसी कोई बात तो है नहीं।
मुख्यमंत्री कमलनाथ ने स्वीकार किया कि प्रदेश नाजुक वित्तीय हालात के दौर से गुजर रहा है। केंद्र सरकार ने लगभग 2000 करोड रुपए का फंड कम कर दिया है। इसके बावजूद हम अपने वचनों को पूरा करेंगे। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इंदौर में कन्फेक्शनरी पार्क बनाए जाने की घोषणा की इससे करीब 40000 लोगों को रोजगार मिलेगा पान की खेती करने वाले किसानों के लिए 500 बांस निस्तारित दर पर उपलब्ध कराए जाएंगे। इससे 5000 किसानों को फायदा होगा।
तबादलों को लेकर सरकार पर उठ रहे सवालों को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने तीखे तेवर अपनाए। उन्होंने कहा कि, भाजपा का बिल्ला लेकर जेब में चलेंगे तो क्या पुरस्कार मिलेगा, तबादला नहीं होगा। उन्होंने साफ कर दिया अभी तो प्रदेश में और तबादले होंगे।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger