Madhya Pradesh Tourism

Home » » उत्तराखंड व हिमाचल में बर्फबारी से लोगों की मुश्किलें बढ़ीं

उत्तराखंड व हिमाचल में बर्फबारी से लोगों की मुश्किलें बढ़ीं

नई दिल्ली। उत्तराखंड में मौसम का मिजाज तल्ख बना हुआ है। मसूरी और नैनीताल समेत प्रदेश में ऊंचाई वाले इलाकों में भारी बर्फबारी ने मुश्किलों में और इजाफा कर दिया है। वहीं, हिमाचल प्रदेश में भी बर्फबारी ने लोगों की परेशानी बढ़ा दी है।
उत्तराखंड में ताजा बर्फबारी के बाद 60 सड़कें बंद हो गईं और 167 गांव अलग-थलग पड़ गए हैं। करीब 637 गांवों में बिजली गुल है। पाइप लाइनों में पानी जमने से पानी की आपूर्ति भी नहीं हो पा रही है। ग्रामीण बर्फ पिघलाकर प्यास बुझा रहे हैं।
गंगोत्री और यमुनोत्री हाईवे कई स्थानों पर बंद है। केदारघाटी का भी यही हाल है। केदारनाथ में कई जगह पांच से छह फीट बर्फ जमा हो चुकी है। गौरीकुंड और केदारनाथ के बीच भारी बर्फबारी से बिजली लाइन क्षतिग्रस्त होने के कारण केदारनाथ में चौथे दिन भी बिजली की आपूर्ति बहाल नहीं की जा सकी।
चमोली में बदरीनाथ और हेमकुंड साहिब के अलावा जोशीमठ, औली और गोरसो बुग्याल में जबरदस्त हिमपात हुआ है। उधर, सोमवार से रुद्रप्रयाग के चोपता में फंसे 70 से ज्यादा पर्यटकों को एसडीआरएफ की टीम ने सकुशल निकाल लिया।
रोहतांग में हुई डेढ़ फीट बर्फबारी
हिमाचल प्रदेश में भारी बर्फबारी के कारण अस्त-व्यस्त हुआ जनजीवन पटरी पर नहीं लौट पाया है। ताजा बर्फबारी ने लोगों की दिक्कतें बढ़ा दी हैं। रोहतांग में डेढ़ फीट बर्फबारी हुई। राजधानी शिमला सहित प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में शुक्रवार को बर्फबारी का दौर जारी रहा। प्रदेश में 598 सड़कों पर यातायात बाधित रहा। 1500 बसें नहीं चलीं। इससे लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।
भूस्खलन की चपेट में आया डाकिया, मौत
बकाणी पंचायत (चंबा, हिमाचल प्रदेश) में गुरुवार रात बारिश व बर्फबारी से हुए भूस्खलन की चपेट में आने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। मृतक की पहचान 45 वर्षीय महेंद्र सिह के रूप में हुई है। वह डाकिया था।
त्रिकुटा पर्वत पर तीन से चार इंच बर्फबारी
मां वैष्णो देवी के त्रिकुटा पर्वत पर शुक्रवार को एक बार फिर बर्फबारी शुरू हो गई। दोपहर बाद तीन बजे तक करीब तीन से चार इंच बर्फबारी हो चुकी थी। हालांकि, श्रद्धालु बारिश और बर्फीली हवाओं के बीच पूरे जोश से मां के भवन की ओर रवाना होते रहे। बारिश और बर्फीली हवाओं के चलते कटड़ा से चलने वाली हेलीकॉप्टर सेवा स्थगित रही।
जम्मू-श्रीनगर हाईवे पांचवें दिन भी बंद, भड़के यात्री
भारी बर्फबारी व भूस्खलन से कश्मीर को देश के अन्य हिस्सों से जोड़ने वाला जम्मू-श्रीनगर हाईवे शुक्रवार को पांचवें दिन भी बंद रहा। रामबन में पहाड़ से पत्थर गिरने से ट्रैफिक पुलिस के एक असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर समेत तीन लोग घायल हो गए। दिनभर हाईवे खोलने का प्रयास तो जारी रहा, लेकिन खराब मौसम लगातार बाधा बना हुआ है।
1500 से अधिक वाहनों विशेषकर ट्रकों को कठुआ, जम्मू, ऊधमपुर, चनैनी, पत्नीटॉप, रामबन, बटोत, बनिहाल आदि क्षेत्रों में रोका गया है। इस बीच, जम्मू में फंसे कश्मीर जाने वाले यात्रियों ने बस स्टैंड में जमकर प्रदर्शन किया। लोगों ने कहा कि उन्हें एयरलिफ्ट कर श्रीनगर पहुंचाया जाए।
उप्र में बिजली गिरने से पांच की मौत 
उत्तर प्रदेश में लखनऊ और आस-पास के जिलों में जमकर बारिश के बाद ओले गिरे, जिससे एक बार फिर ठंड बढ़ गई है। आकाशीय बिजली गिरने से हरदोई और लखीमपुर में दो-दो व सीतापुर में एक व्यक्ति की मौत हो गई। बहराइच में दो किसानों के घायल होने की खबर है। उधर, मध्य प्रदेश में भी कई स्थानों पर बारिश हुई और ओले गिरे।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger