Home » » कुछ ऐसा करें जिससे अपने जीवन और समाज में आए बदलाव

कुछ ऐसा करें जिससे अपने जीवन और समाज में आए बदलाव

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के जरिये 51वीं बार देशवासियों को संबोधित किया। इस साल के आखिरी मन की बात की शुरुआत पीएम मोदी ने सभी देशवासियों को आने वाले नए साल की शुभकामनाएं देते हुए की।
उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति, समाज, राष्ट्र को पीछे मुड़कर भी देखना होता है और भविष्य मे भी देखने की कोशिश करनी होती है। इसी तरह अनुभवों का लाभ मिलता है और नया करने का आत्मविश्वास भी पैदा होता है।
पीएम ने कहा कि हम कुछ ऐसा करें जिससे स्वयं के जीवन में भी बदलाव ला सकें और साथ-ही-साथ देश एवं समाज को आगे बढ़ाने में भी अपना योगदान दे सकें। उन्होंने कहा कि यह भी महत्वपूर्ण है कि साल 2018 को भारत एक देश के रूप में अपनी एक सौ तीस करोड़ की जनता के सामर्थ्य के रूप में कैसे याद रखेगा।
इन योजनाओं के बारे में बताया
आयुष्मान भारत का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि साल 2018 में विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना ‘आयुष्मान भारत’ की शुरुआत हुई। देश के हर गांव तक बिजली पहुंची। विश्व की गणमान्य संस्थाओं ने माना कि भारत रिकॉर्ड गति के साथ, देश को गरीबी से मुक्ति दिला रहा है।
देश को एकता के सूत्र में पिरोने वाले, सरदार वल्लभभाई पटेल के सम्मान में विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा ‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ देश को मिली। देश को संयुक्त राष्ट्र के सर्वोच्च पर्यावरण पुरस्कार चैंपियन ऑफ द अर्थ अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। भारत में अन्तरराष्ट्रीय सौर गठबंधन की पहली महासभा ‘अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन’ का आयोजन हुआ। हमारे सामूहिक प्रयासों का ही नतीजा है कि हमारे देश की ईज ऑफ बिजनेस डुईंग बिजनेस रैंकिंगमें अभूतपूर्व सुधार हुआ।
देश के सेल्फ डिफेंस को नई मजबूती मिली है। इसी वर्ष देश ने सफलतापूर्वक न्यूक्लियर ट्रायड को पूरा किया है। इसका अर्थ है कि अब हम जल, थल और नभ, तीनों में परमाणु शक्ति संपन्न हो गए हैं। देश की बेटियों ने नाविका सागर परिक्रमा के माध्यम से पूरे विश्व का भ्रमण कर देश को गर्व से भर दिया है। वाराणसी में भारत के पहले जलमार्ग की शुरुआत हुई। वॉटरवेज के क्षेत्र में नई क्रांति का सूत्रपात हुआ है।
देश के सबसे लम्बे रेल-रोड पुल बोगीबील ब्रिज का लोकार्पण किया गया और सिक्किम के पहले और देश के 100वें एयरपोर्ट– पाक्योंग की शुरुआत हुई। अंडर 19 क्रिकेट विश्व कप और ब्लाइंड क्रिकेट विश्व कप में भारत ने जीत दर्ज कराई। इस बार एशियन गेम्स में भारत ने बड़ी संख्या में मेडल जीते। पैरा एशियन गेम्स में भी भारत ने काफी अच्छा प्रदर्शन किया। यह सब 130 करोड़ देशवासियों के अथक प्रयासों से संभव हो सका है।
असाधारण देशवासियों को खो दिया
मोदी ने मन की बात में उन लोगों का भी जिक्र किया, जिन्होंने अपने आसाधारण काम से लोगों के दिलों में जगह बनाई। उन्होंने कहा कि-25 दिसंबर को कर्नाटक की सुलागिट्टी नरसम्मा का निधन हो गया। सुलागिट्टी नरसम्मा गर्भवती माताओं-बहनों को प्रसव में मदद करने वाली सहायिका थीं। उन्होंने कर्नाटक के दुर्गम इलाकों में हजारों माताओं-बहनों को अपनी सेवायें दीं। इस साल की शुरुआत में उन्हें ‘पद्मश्री’ से सम्मानित किया गया था।
19 दिसंबर को चेन्नई के डॉ जयाचंद्रन का निधन हो गया। उनको प्यार से लोग ‘मक्कल मारुथुवर’ कहते थे क्योंकि वे जनता के दिल में बसे थे। वह न सिर्फ गरीबों को सस्ता इलाज उपलब्ध कराते थे, बल्कि कई बार तो मरीजों को आने-जाने का किराया भी खुद ही देते थे।
बिजनौर के हार्ट लंग्स क्रिटिकल सेंटर की ओर से हर महीने ऐसे मेडिकल कैंप लगाए जाते हैं, जहां कई बीमारियों की मुफ्त जांच और इलाज होता है। हर महीने सैकड़ों गरीब मरीज इस कैंप से लाभान्वित हो रहे हैं। निःस्वार्थ भाव से सेवा में जुटे इन डॉक्टर्स का उत्साह तारीफ के काबिल है।
खिलाड़ियों की उपलब्धियां भी बताई
पीएम मोदी ने मन की बात में कश्मीर की कराटे चैंपियन अनाया का जिक्र करते हुए उसे शुभकामनाएं दी। इसके साथ ही 16 साल बॉक्सर रजनी और उसके पिता के संघर्षों की बात कहते हुए बताया कि कैसे वह परिस्थितियों से लड़ते हुए इस मुकाम पर पहुंची। रजनी ने जूनियर महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता। पुणे की 20 साल की वेदांगी कुलकर्णी साइकल से दुनिया का चक्कर लगाने वाली सबसे तेज एशियाई बन गयी हैं। पीएम ने इन सभी बेटियों को सराहा और उन्हें शुभकामनाएं दी।
आगामी त्योहारों की अग्रिम बधाई
प्रधानमंत्री ने जनवरी में त्योहारों के आगमन पर हर्षोउल्लास प्रकट करते हुए कहा कि भारत के पर्व अपनी विविधताओं से सभी देशवासियों को एक साथ ले आते हैं। अलग होते हुए भी सभी इनको धूम-धाम से मिलकर मनाते हैं। लोहड़ी, पोंगल, मकर संक्रांति, उत्तरायण, माघ बिहु, माघी, इन त्योहारों के अवसर पर पूरे भारत में कहीं पारंपरिक नृत्यों का रंग दिखेगा, तो कहीं फसल तैयार होने की खुशियों में लोहड़ी जलाई जाएगी। कहीं पर आसमान में रंग-बिरंगी पतंगे उड़ती हुई दिखेंगी, तो कहीं मेले की छठा बिखरेगी।
प्रधानमंत्री ने सभी देशवासियों को आने वाले त्योहारों एवं नए साल की शुभकामनाएं देते हुए आग्रह किया कि उत्सवों पर ली गई तस्वीरों को सबके साथ शेयर करें, ताकि भारत की विविधता और भारतीय संस्कृति की सुंदरता हर कोई देख सके।
कुंभ मेले को भी किया शामिल
पीएम मोदी ने कहा- 15 जनवरी से प्रयागराज में विश्व प्रसिद्ध कुंभ मेला शुरू हो रहा है। कुंभ का स्वरूप विराट होता है। यह जितना दिव्य, उतना ही भव्य होता है। कुंभ मेले में आस्था और श्रद्धा का जन-सागर उमड़ता है। एक साथ एक जगह पर देश-विदेश के लाखों करोड़ों लोग जुड़ते हैं। कुंभ की परंपरा हमारी महान सांस्कृतिक विरासत से पुष्पित और पल्लवित हुई है।
इस वर्ष 150 से ज्यादा देश के लोगों के कुंभ में पहुंचने की संभावना है। कुंभ की दिव्यता से भारत की भव्यता पूरी दुनिया में अपना रंग बिखेरेगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बार कुंभ में स्वच्छता पर भी खास ध्यान दिया जाएगा। श्रद्धालु संगम में पवित्र स्नान के बाद अब सैंकड़ों वर्षों से किले में बंद अक्षयवट के पुण्य दर्शन भी कर सकेंगे। पीएम ने कहा कि मेरा आपसे आग्रह है कि आप जब कुंभ जाएं, तो कुंभ के अलग-अलग पहलू और तस्वीरें सोशल मीडिया पर अवश्य शेयर करें ताकि अधिक से अधिक लोगों को कुंभ में जाने की प्रेरणा मिले।

Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger