Madhya Pradesh Tourism

Home » » मस्जिद में नमाज पढ़ाता था सुहैल, नहीं करता था लोगों से बात

मस्जिद में नमाज पढ़ाता था सुहैल, नहीं करता था लोगों से बात

नईदिल्ली। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बुधवार को उत्तरप्रदेश और दिल्ली में 17 जगहों पर छापे मारे कर जिन 10 संदिग्धों को हिरासत में लिया था, उन्हें गुरुवार को कोर्ट में पेश किया गया। बता दें कि यह कार्रवाई करीब पांच महीने पहले आईएसआईएस से प्रेरित होकर आतंकी बने संगठन हरकत उल हर्ब-ए-इस्लाम के खिलाफ की गई थी। एनआईए ने अमरोहा के मूल निवासी हाफिज अहमद के बेटे मुफ्ती मोहम्मद सुहैल उर्फ हजरत को मॉड्यूल का मास्टरमाइंड बताया है।
बताया जा रहा है कि मॉड्यूल का मास्टरमाइंड 29 साल सुहैल हकीम महताब उद्दीन हाशमी रोड पर मस्जिद में 'मुफ्ती' के रूप में काम कर रहा था। वह दिल्ली के जाफराबाद इलाके में रह रहा था, लेकिन दो महीने पहले से वह अमरोहा में आकर रहने लगा था। उसने टीम के अन्य सदस्यों को आईईडी और पाइप-बम तैयार करने के लिए हथियार, विस्फोटक और अन्य सामान खरीदने का काम सौंपा था।
इस पूरी साजिश के पीछे मुफ्ती सुहैल को मास्टरमाइंड बताया जा रहा है। वह मूल रूप से अमरोहा का रहने वाला है। एक साल पहले अमरोहा के मोहल्ला दरबारे कला मुरादाबादी गेट में उसकी शादी हुई थी। खुफिया सूत्रों के मुताबिक, वह दो महीने पहले ही अमरोहा में आकर रहने लगा था। अमरोहा पुलिस और लोगों की बात पर यकीन करें, तो मुफ्ती यहां आकर एक मस्जिद से जुड़ गया। मस्जिद में वह लोगों को नमाज पढ़ाने लगा, लेकिन लोगों से कम ही मिलता था।
जानकारी के अनुसार, नमाज पढ़ने के वक्त ही लोग उसको देखते थे। सुहैल अक्सर अकेले ही रहता था इसलिए किसी को उस पर शक नहीं हुआ। पड़ोसियों के अनुसार, मुफ्ती सुहैल का परिवार दीनी तालीम से जुड़ा हुआ है। उसके दो भाई भी हैं। बड़े भाई जुनैद की दिल्ली में इंवर्टर बैटरी की दुकान है। जबकि, दूसरा भाई उबैद दिल्ली में ही किसी प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है। सुहैल के परिवार के ज्यादातर सदस्य धार्मिक शिक्षा हासिल किए हुए हैं। उसके पिता भी एक मदरसे में पढ़ाते हैं।
युवाओं को अपने साथ जोड़ रहा था सुहैल
एनआईए के अनुसार, मुफ्ती सुहैल ने दिल्ली में रहकर देश को दहलाने का कथित प्लान तैयार किया था। लेकिन, आतंक का अड्डा बनाने और मौत का सामान रखने के लिए दो महीने पहले ही उसने अमरोहा को चुना। वह ऑपरेशन 'बर्बादी' को अमरोहा से ऑपरेट कर अंजाम देना चाहता था। आकाओं के इशारे पर उसने अपने साथ कुछ युवाओं को जोड़ लिया था।
दिल्ली के जाफराबाद में रहने लगा था परिवार
बता दें कि, एनआईए और एटीएस ने अमरोहा के मोहल्ला मुल्लाना में दबिश देकर मुफ्ती सुहैल पुत्र हाजी अब्बासी को पकड़ा था। उसकी निशानदेही पर जिले के सैदपुर में हबीब के यहां दबिश देकर वेल्डिंग करने वाले दो भाइयों को भी हिरासत में लिया था। जानकारी के मुताबिक, आतंक की साजिश के कथित मास्टरमाइंड मुफ्ती सुहैल के परिवार के लोग करीब तीस साल पहले दिल्ली के जाफराबाद में रहने लगे थे। सुहैल ने मदसरता जामा मस्जिद अमरोहा और देवबंद के मदरसे में पढ़ाई की है।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger