Home » » MP Election 2018: चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट, अफसर कागजों में ढूंढते रहे दालगांव

MP Election 2018: चुनाव आयोग ने मांगी रिपोर्ट, अफसर कागजों में ढूंढते रहे दालगांव

भोपाल। ब्यौहारी विधानसभा क्षेत्र के अंतिम छोर पर 8 किलोमीटर की खड़ी पहाड़ी में स्थित दाल गांव के बारे में चुनाव आयोग ने शहडोल कलेक्टर से रिपोर्ट तलब की है। हालांकि आयोग के संज्ञान लेने के बाद भी अफसर और मैदानी अमला गांव तक नहीं पहुंच सका है।
खानापूर्ति के लिए अफसर कागजों में गांव को ढूंढ़ते रहे और मैदानी कर्मचारियों से जानकारी लेते रहे। गौरतलब है कि सामाजिक कार्यकर्ता अजय दुबे नवदुनिया में प्रकाशित इस खबर को चुनाव आयोग के संज्ञान में लाए थे। बिजली-पानी की समस्या से जूझ रहे इस गांव के लोग चुनाव की खबर से अनजान हैं।
सूत्रों के मुताबिक चुनाव आयोग के संज्ञान लेने के बाद प्रेक्षक ब्यौहारी ने दाल गांव जाने के लिए स्थानीय अधिकारियों से बात की थी। वन विभाग के कर्मचारी के साथ बाइक से गांव जाने की प्लानिंग थी, लेकिन अन्य मीटिंग होने की वजह से गांव नहीं पहुंच पाए।
उधर प्रशासन की टीम भी अब तक गांव नहीं पहुंची है। अफसर सिर्फ कागजों में ही पड़ताल करते रहे। अधिकारियों की मानें तो यहां 60 वोटर्स हैं, लेकिन पहाड़ी में मतदान केंद्र नहीं है। ग्रामीणों को पहाड़ी से वोट देने के लिए नीचे आना होगा।
दरअसल, 8 किमी तक ऊबड़-खाबड़ दुर्गम रास्तों के बाद पहाड़ियों में दाल गांव स्थित है। यहां अब तक न तो ग्रामीणों को चुनाव की जानकारी हैं, न ही उन्हें मालूम है कि इस वोट से विधायक तैयार होंगे या फिर सांसद या कोई और। कई दशक बीतने के बाद भी न तो गांव तक कोई अफसर पहुंचा है और न ही कभी जनता के नुमाइदों ने सुध ली है।
चुनाव आयोग द्वारा ब्यौहारी में तैनात सामान्य प्रेक्षक बीके देहुरे का कहना है कि दाल गांव जाने की योजना थी। बाइक के माध्यम से गांव जाना था, लेकिन मीटिंग होने की वजह से नहीं जा सके हैं। जल्द गांव जाएंगे।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger