Home » » अयोध्या में आतंकी अलर्ट, साधु के भेष में आ सकते हैं आतंकी; ट्रेन यात्रियों पर कड़ा पहरा

अयोध्या में आतंकी अलर्ट, साधु के भेष में आ सकते हैं आतंकी; ट्रेन यात्रियों पर कड़ा पहरा

नई दिल्ली । अयोध्या में राम मंदिर निर्माण मुद्दे को लेकर उमड़े जनसैलाब के बीच आतंकी खतरा भी है। इसे लेकर आइबी के अलर्ट पर यूपी पुलिस ने सतर्कता और बढ़ा दी है। खासकर 25 नवंबर को संतों की धर्मसभा में बड़ी संख्या में लोगों के जुटने के दौरान अधिक खतरे की बात कही गई है। आशंका है कि आतंकी भीड़भाड़ में साधु की वेशभूषा में भी घुसपैठ कर सकते हैं।
आतंकी खतरा, ट्रेन यात्री पर कड़ी नजर 
आतंकी खतरे की वजह से अयोध्या में खासकर आतंकवाद निरोधक दस्ता (एटीएस) के विशेष कमांडो तैनात किए गए हैं। साथ ही, खुफिया तंत्र को और अधिक सक्रिय कर दिया गया है। आइबी ने करीब एक सप्ताह पहले अलर्ट जारी किया था, जिसके बाद से ही यूपी पुलिस ने अपनी तैयारियां शुरू कर दी थीं। विशेषकर ट्रेनों से आने वालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है।
बताया गया कि 25 नवंबर को अयोध्या में करीब दो लाख लोगों के जुटने का अनुमान है। हालांकि, पुलिस अधिकारियों का दावा एक लाख लोगों के जुटने का है। वहीं, स्टेट इंटेलीजेंस ने धर्मसभा में यूपी के अलग-अलग क्षेत्रों से जुट रहे लोगों के बारे में विस्तृत जानकारी जुटाई है। किस जिले से कितने लोग आ रहे हैं और उनमें शामिल प्रमुख लोगों के नाम व मोबाइल नंबर तक जुटाए गए हैं और उन्हें अयोध्या में तैनात पुलिस अफसरों से साझा किया गया है। प्रदेश के बाहर से आने वाले लोगों पर भी खुफिया एजेंसियों की कड़ी नजर है।
होटल-धर्मशालाओं की बढ़ाई गई चेकिंग
आइबी की टीम के अलावा अयोध्या व आसपास के जिलों में खुफिया इकाई की टीमों लगातार संदिग्ध लोगों पर नजर रख रही हैं और होटल व धर्मशालाओं में चेकिंग बढ़ा दी गई है। अयोध्या में आतंकी साजिश की आशंका को देखते हुए कई संभावित व संदिग्ध आतंकियों की तस्वीरें के जरिये भी खुफिया एजेंसियां निगरानी का काम कर रही हैं। सर्विलांस यूनिट सोशल मीडिया के जरिये चल रही गतिविधियों पर भी कड़ी नजर रख रही है। एडीजी कानून-व्यवस्था आनन्द कुमार का कहना है कि आइबी के अलर्ट के मद्देनजर पूरी सतर्कता बरती जा रही है।
गोधरा की घटना को देखते हुए भी सतर्कता
डीजीपी मुख्यालय ने गोधरा कांड के दृष्टिगत एडीजी रेलवे को पत्र लिखकर ट्रेनों में सुरक्षा-व्यवस्था को लेकर पूरी मुस्तैदी बरते जाने को कहा है। अयोध्या से वापस जाने वाली ट्रेनों में यूपी के हर स्टेशन पर चेकिंग बढ़ाने के साथ ही ट्रेन के भीतर भी सुरक्षाकर्मियों को मुस्तैद रखने को कहा गया है। अयोध्या में सुरक्षा के दृष्टिगत चार कंपनी आरएएफ और तैनात की गई है। कुल नौ कंपनी आरएएफ को मुस्तैद किया गया है।
विहिप की धर्मसभा में जुड़ेंगे दो लाख से ज्यादा रामभक्त
विश्व हिंदू परिषद की धर्मसभा रविवार को बड़ा भक्तमाल की बगिया में सुबह 11 बजे से होगी। धर्मसभा में दो लाख से ज्यादा रामभक्तों के जुटने का अनुमान है। धर्मसभा में उप्र के 50 से ज्यादा जिलों से रामभक्तों का पहुंचना शुरू हो गया है। करीब पांच सौ बसें रामभक्तों को लाने व पहुंचाने के लिए लगाई गई हैं, जबकि तीन हजार से ज्यादा कार्यकर्ताओं की फौज व्यवस्थाओं के मद्देनजर तैनात की गई है। मंच पर करीब सौ लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है। विहिप की धर्मसभा में जगतगुरु रामानंदाचार्य स्वामी रामभद्राचार्य, रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास, हरिद्वार के जगतगुरु रामानंदाचार्य हंसदेवाचार्य, महानिर्वाणी अखाड़ा के महंत र¨वद्रपुरी, दिगंबर अखाड़ा के महंत सुरेश दास, जगतगुरु रामानुजाचार्य वासुदेवाचार्य, महामंडलेश्वर उड़ीसा के स्वामी ज्ञानानंद गिरी समेत करीब सौ संत व विशिष्टजन शामिल होंगे।
इनके साथ ही आरएसएस के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल समेत संघ व विहिप के कुछ अन्य बड़े नेताओं के शामिल होने की भी संभावना है। शनिवार को भी संघ के क्षेत्र प्रचारक स्तर के कई नेता अयोध्या में डेरा डाले रहे। पूरे दिन बड़े भक्तमाल की बगिया व कारसेवकपुरम में हलचल बढ़ी रही। विहिप के अंतरराष्ट्रीय उपाध्यक्ष चंपत राय, सांसद लल्लू सिंह समेत अन्य बड़े नेता बड़ा भक्तमाल में डेरा डाले रहे। वाहन पार्किग के लिए परिक्रमा मार्ग स्थित बड़ा भक्तमाल परिसर की विभिन्न दिशाओं के 13 स्टैंड बनाए गए हैं। सभास्थल से एक किलोमीटर दूर ही वाहन रोक दिए जाएंगे। वहीं सुरक्षा के भी कड़े इंतजाम किए गए हैं। विहिप के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने बताया कि धर्मसभा ऐतिहासिक होगी।
अयोध्या में  अब तक हुए आतंकी घटनाएं
-28 मार्च, 1999 : अयोध्या रेलवे स्टेशन पर मिला बम। पुलिस लाइन में बम को निष्कि्रय करने के दौरान हुआ विस्फोट। कई पुलिसकर्मी हुए थे घायल। 
-15 मई, 2000 : जिला अस्पताल के मुख्य गेट पर हुए ब्लास्ट में राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत परमहंस दास समेत कई घायल। 
-13 जून, 2001 : हनुमानगढ़ी चौराहे पर लावारिस जीप में मिला था बम। 
-पांच जुलाई, 2005 : विवादित परिसर में आतंकी हमला। पुलिस ने पांच आतंकियों को मार गिराया था।
-23 नवंबर, 2007 : कचहरी परिसर में बम ब्लास्ट।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger