Home » , » विजय माल्‍या का महालक्ष्‍मी रेसकोर्स स्थित लग्‍जरी लाउंज किया जाएगा नीलाम

विजय माल्‍या का महालक्ष्‍मी रेसकोर्स स्थित लग्‍जरी लाउंज किया जाएगा नीलाम

मुंबई । भगोड़े शराब करोबारी विजय माल्‍या की लंदन से प्रत्‍यर्पण की तैयारी चल रही है। इधर मुंबई के महालक्ष्‍मी रेसकोर्स स्थित 'विजय माल्‍या लाउंज' नीलाम होने जा रहा है। माल्‍या के पास ये लाउंज पिछले 15 साल से था। रेस के सीजन के बाद इस मैदान का इस्तेमाल पोलो के शौकीनों के लिए, हेलीपैड के रूप में और दक्षिण मुंबई में रहने वाली कई मशहूर हस्तियों के साथ-साथ आम लोगों के टहलने-दौड़ने के लिए भी होता है।
महालक्ष्‍मी रेसकोर्स स्थित विजय माल्‍या का लाउंज उनकी शान-ओ-शौकत का परिचायक रहा है। यह लाउंज 500 वर्गफीट है। रॉयल वेस्टर्न इंडिया टर्फ क्लब (आरडब्ल्यूआइटीसी) ने इस वातानुकूलित लाउंज के लिए बोलियां आमंत्रित की हैं।
500 वर्ग फुट, यूबी लाउंज, या 'विजय माल्या का लाउंज' जैसा कि यह बोलचाल के रूप में जाना जाता है, औसत मुंबई अपार्टमेंट के आकार का है। यह बिल्‍कुल टोनी पुनावाल्ला लाउंज से नीचे है, जो दूसरे डेक पर है। माल्या लाउंज के नजदीक एक कैफेटेरिया है, जो जनता के लिए खुला है। इस लाउंज में बैठने की बेहतरीन व्‍यवस्‍था है। आरडब्ल्यूआइटीसी के मौजूदा अध्यक्ष खुशरु धुनजीबोय ने बताया, 'लाउंज 15 साल तक माल्या को लीज पर दिया गया था। लाउंज की लीज खत्म हो गई है। अब क्लब एक बार फिर लाउंज को 15 साल की लीज पर देना चाहता है। हमारे पास बोलियां लगातार आ रही हैं। बोली भेजने की आखिरी तिथि 1 दिसंबर है। मुझे यकीन है कि कोई न कोई अच्‍छी बोली इस लाउंज के लिए जरूर लगाएगा।'
खुशरु ने यह बताने से इन्‍कार कर दिया कि लाउंज की न्‍यूनतम बोली क्‍या है। बता दें कि मुंबई का महालक्ष्मी रेसकोर्स देश में ही नहीं विदेशों में भी एक अलग पहचान रखता है। साल 1883 में शुरू हुए इस रेसकोर्स के पीछे पारसी व्यवसायी खुसरो वाडिया का बड़ा योगदान है। दक्षिण मुंबई में समंदर के किनारे 225 एकड़ में बने इस रेसकोर्स में 224 मीटर लंबा रेसिंग ट्रैक है।

Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger