Home » » Indonesia Plane Crash: एक दिन पहले भी विमान में दिखी थी गड़बड़ी

Indonesia Plane Crash: एक दिन पहले भी विमान में दिखी थी गड़बड़ी

जकार्ता। सोमवार को हादसे का शिकार हुए इंडोनेशिया के विमान को लेकर चौंकाने वाली बात सामने आई है। एक फ्लाइट ट्रैकिंग वेबसाइट के मुताबिक, पिछली उड़ान के दौरान विमान की गति में असामान्य बदलाव दिखा था। नेशनल ट्रांसपोर्ट सेफ्टी कमेटी (एनटीएससी) के उप-प्रमुख हारयो सतमिको ने भी मंगलवार को बताया कि अनियमित गति समेत विमान में कुछ तकनीकी खामियां थीं।
हालांकि उन्होंने कहा कि अभी जांच प्राथमिक स्तर पर है। दुर्घटना के कारणों को लेकर कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। लायन एयर का बोइंग-737 मैक्स-8 विमान सोमवार को समुद्र में गिर गया था। इस दुर्घटना में विमान में सवार सभी 189 यात्रियों और चालक दल के सदस्यों की मौत हो गई।
विमान को भारतीय पायलट भव्य सुनेजा (31) उड़ा रहे थे, जबकि को-पायलट जकार्ता निवासी हरविनो थे।वेबसाइट फ्लाइटरडार 24 के मुताबिक, रविवार शाम डेनपासर से उड़ान भरने के बाद शुरुआती कई मिनट तक विमान की गति और ऊंचाई में असामान्य बदलाव दिखा था। एक बार यह 27 सेकंड के भीतर 875 फीट तक नीचे आ गया था।
बाद में पायलटों ने इसे अधिकतम 28,000 फीट की ऊंचाई पर उड़ाया। इसी रूट पर कुछ दिन पहले इसे 36,000 फीट की ऊंचाई तक उड़ाया गया था। लायन एयर के सीईओ एडवर्ड सिरेत ने भी सोमवार का स्वीकार किया था कि विमान की पिछली उड़ान में कुछ तकनीकी खामी आई थी, जिसे सुधार लिया गया था।
हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि क्या गड़बड़ी हुई थी।रविवार की उड़ान में शामिल रहे दो यात्रियों ने सोशल मीडिया पर अपने अनुभव भी साझा किए हैं। उनका कहना है कि विमान ने तीन घंटे की देरी से उड़ान भरी थी। उसके एयर कंडीशन और केबिन लाइटिंग में भी दिक्कत थी। एक यात्री ने पूरे सफर के दौरान इंजन से अजीब आवाज आने की बात भी कही है।
तलाश का दायरा बढ़ा
जकार्ता से 32 मील पूर्व केरावांग के नजदीक समुद्र में डूबे विमान के मलबे और मृतकों की तलाश मंगलवार को लगातार दूसरे दिन जारी रही। एजेंसियों ने जांच का दायरा पांच नॉटिकल मील से बढ़ाकर 10 नॉटिकल मील कर दिया है। अभी तक करीब 10 शवों के अवशेष मिलने की बात कही जा रही है। विमान का कुछ मलबा भी मिला है।
एजेंसियां विमान का ब्लैक बॉक्स रिकॉर्डर खोजने का भी प्रयास कर रही हैं, जिससे दुर्घटना के कारण से पर्दा उठ सकता है। इस बीच अधिकारियों ने लोगों से झूठी खबरों से बचने और इन्हें प्रसारित नहीं करने की अपील भी की है। दुर्घटना को लेकर सोशल मीडिया पर कई भ्रामक जानकारियां व तस्वीरें साझा हो रही हैं।
भारत के विमान सुरक्षित
इंडोनेशिया में हुए हादसे के बाद भारत के नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) ने देश में उड़ रहे बोइंग-737 मैक्स-8 विमानों के प्रदर्शन की समीक्षा की है। निजी क्षेत्र की विमानन कंपनियों जेट एयरवेज और स्पाइसजेट के बेड़े में ये विमान शामिल हैं।
एक अधिकारी ने बताया कि जून, 2018 में मंजूरी मिलने के बाद से भारत में छह बोइंग-737 मैक्स-8 विमानों ने करीब 4,000 घंटे की उड़ान भरी है। इनमें कोई तकनीकी दिक्कत सामने नहीं आई है। इस बीच, बोइंग ने घटना पर दुख जताते हुए तलाश अभियान में इंडोनेशिया को तकनीकी मदद मुहैया कराने की बात कही है।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger