Home » » व्रत ही नहीं, पति की लंबी उम्र के लिए ये उपाय भी हैं जरूरी

व्रत ही नहीं, पति की लंबी उम्र के लिए ये उपाय भी हैं जरूरी

हमारी संस्कृति में पत्नियां, पति की खुशहाली, सलामती और उनके सेहतमंद रहने के लिए कई अवसरों पर व्रत-उपवास और ईश वंदना करती है, इन्हीं में से एक बेहद खास त्यौहार है, करवा चौथ। आप अपने पतिदेव की सलामती और दीर्घायु के लिए इन धार्मिक-आध्यात्मिक उपायों के साथ-साथ कुछ हेल्दी और लाइफ सेविंग गोल्डन रुल्स पर अमल करने के लिए भी पति को प्रेरित करें तो आप दोनों की जोड़ी सदा सलामत रहेगी-
उन्हें अल्कोहल से रखें दूर 
फिटनेस एक्सपर्ट मैट रॉबर्ट्‌स कहते हैं कि अल्कोहल में कैलोरी भरी होती है, जिससे पुरुषों में वजन बढ़ने के साथ ही कई अन्य तरह की समस्या होने लगती है। यह स्थिति न सिर्फ बेडौल बनाती है बल्कि कई बीमारियों का सबब भी बन सकती है। इसलिए उन्हें अल्कोहल के मामले में जरा कंजूसी बरतने को कहें।
हॉट स्टीम बाथ का महत्व 
यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्टर्न फिनलैंड के वैज्ञानिकों का मानना है कि हॉट स्टीम बाथ की ड्राई हीट मध्यवयस के पुरुषों के हार्ट के लिए हेल्दी होती है। 42 से 60 वर्ष के पुरुषों पर किए अध्ययन में उन्होंने पाया कि हफ्ते में एक बार हॉट स्टीम बाथ लेने से हार्ट अटैक का जोखिम 63 फीसदी तक कम हो सकता है।
साइकिलिंग करने को कहें 
एबर्टे यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिकों ने पाया है कि हफ्ते में दो बार भी साइकिल चलाने याइंडोर बाइक पर पैडल मारने पर फैट में कमी आ सकती है। अगर पतिदेव के शरीर पर अतिरिक्त फैट है तो उन्हें पैडल पॉवर आजमाने को कहें।
कमर के घेरे पर काबू जरूरी 
लंदन की सिटी यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक द्वारा किए एक रिसर्च में बताया गया है कि बीमारियों से बचना है तो पुरुषों की कमर का घेरा कम होना चाहिए। दीर्घायु होने में यह कमर अड़चन डाल सकती है। अगर उनकी वेस्ट ज्यादा है तो तुरंत कम करने के उपाय लागू करें।
पर्याप्त आराम करने को कहें 
चार्टर्ड सोसायटी ऑफ फिजियोथैरेपी के विशेषज्ञ क्लेअर स्माल कहते हैं कि उम्र बढ़ने के साथ-साथ शरीर के विभिन्ना अंगों में वॉटर कंटेंट कम होने लगता है और वे फ्लेक्सिबिलिटी खोने लगते हैं, जॉइंट्‌स की रक्षा करने वाले कार्टिलेज की भी यही हालत होती है। ऐसे में पर्याप्त रेस्ट करना भी जरूरी है। इसलिए भागदौड़ के बीच उन्हें पर्याप्त आराम करने की भी सलाह दें।
सुबह-सवेरे सैर-सपाटा करने को कहें
आधे घंटे से चालीस मिनट मॉर्निंग वॉक और रोजाना वर्कआउट सेहत के लिए सबसे अच्छी आदतें हैं। पति को रोज सुबह-शाम वॉकिंग के लिए प्रेरित करें। वे आलस करें याबहाना बनाएं तो आप खुद उनके साथ जाकर उनकी आदत बनाएं। लिफ्ट की बजाय सीढ़ियों का प्रयोग और सब्जी-राशन के लिए पैदल जाने को कहें।
पुशअप्स के लिए कहें 
सेंट मैरीज यूनिवर्सिटी में अप्लाइड स्पोर्ट्‌स साइंस के प्रोफेसर जॉन ब्रीवर कहते हैं कि पुश अप्स फिटनेस का सटीक बैरोमीटर माने जा सकते हैं। विशेष रूप से मध्यवय के पुरुषों के लिए। इनसे पूरी बॉडी का वर्कआउट हो जाता है। आर्म्स, चेस्ट, एब्डॉमन, हिप्स और पैर सबकी वसा कम होती है और मसल्स मजूबत होती है।
प्रोटीन ज्यादा दें 
अमेरिकन जर्नल ऑफ क्लीनिकल न्यूट्रीशन में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक मीडिलएज पुरुषों को प्रोटीन की ज्यादा जरूरत होती है। इससे उनकी मसल्स मजबूत रहती हैं। पुरुषों के प्रतिदिन 0.16 से 2 ग्राम लो फैट प्रोटीन शरीर के प्रति किलोवजन के हिसाब से लेना चाहिए। इसके लिए जरूरी चीजें भोजन में दें।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger