Madhya Pradesh Tourism

Home » » कश्मीर में निकाय चुनाव के लिए मतदान जारी, इंटरनेट सेवाएं बंद

कश्मीर में निकाय चुनाव के लिए मतदान जारी, इंटरनेट सेवाएं बंद

जम्मू। जम्मू-कश्मीर में कड़ी सुरक्षा के बीच सोमवार को स्थानीय निकाय चुनाव के पहले चरण के लिए मतदान शुरू हुआ। चुनाव को लेकर राज्य में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं वहीं इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं। मतदान सुबह 7 बजे से शुरू होकर शाम 5 बजे तक चलेगा।
राज्य के सात जिलों के 422 वार्डों में 1283 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। जम्मू-कश्मीर में चार चरणों में होने वाले निकाय चुनाव में 2990 उम्मीदवार मैदान में हैं। जबकि 244 उम्मीदवार निर्विरोध चुनाव जीत चुके हैं।
रविवार को राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी शालीन काबरा ने श्रीनगर में उच्च स्तरीय बैठक में चुनावी तैयारियां का जायजा लिया। चुनाव को निष्पक्ष बनाने के लिए किए प्रबंधों व सुरक्षा तैयारियों पर चर्चा की। राज्य में चुनाव पर कड़ी नजर रखने के लिए 22 जिलों में 23 कंट्रोल रूम स्थापित किए गए हैं। रविवार शाम को सभी मतदान केंद्रों में सुरक्षाकर्मियों और पोलिग स्टाफ के सदस्यों ने डेरा डाल दिया।
जम्मू शहर के 75 वार्डों में 447 उम्मीदवारों का फैसला करीब चार लाख मतदाता करेंगे। श्रीनगर नगर निगम के वार्ड नंबर 16, 17 और 74 में आठ उम्मीदवार भाग्य आजमा रहे हैं। इसके अलावा जिन म्युनिसिपल कमेटियों के लिए सोमवार को मतदान होना है, उनमें जम्मू संभाग की बिश्नाह, अरनिया, आरएसपुरा, घो मन्हासां, अखनूर, ज्यौड़ियां, खौड़, राजौरी, थन्नामंडी, सुंदरबनी, पुंछ व कालाकोट शामिल हैं।
इसके अलावा कश्मीर संभाग की कुपवाड़ा, हंदबाड़ा, बांडीपोरा, बड़गाम, चाडूरा, देवसर, अच्छाबल, कोकरनाग, कांजीगुंड, कारगिल, लेह व बारामूला शामिल हैं। जम्मू-कश्मीर में चार चरणों में 16 लाख 97 हजार 291 मतदाता वोट डालने के योग्य हैं। पहले चरण में आठ अक्टूबर, दूसरे चरण में 10, तीसरे चरण में 13 व चौथे व अंतिम चरण में मतदान 16 अक्टूबर को होगा। वोटों की गिनती 20 अक्टूबर को होगी।
कुल मिलाकर राज्य में चार चरणों में दो नगर निगमों के साथ म्युनिसिपल कमेटियों व म्युनिसिपल काउंसिलों के 1145 वार्डों में वोट पड़ेंगे। इन वार्डों में 90 वार्ड अनुसूचित जाति के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं तो 38 वार्ड अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। अनुसूचित जाति की महिलाओं के लिए 31 व अनुसूचित जनजाति की महिलाओं के लिए 13 वार्ड आरक्षित हैं। ओपन वर्ग में महिलाओं के लिए राज्य में 322 वार्ड आरक्षित किए गए हैं।
पहले चरण में 190 मतदान केंद्र अति संवेदनशील
जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की धमकियों के चलते पहले चरण में 190 मतदान केंद्र अति संवेदनशील हैं। पहले चरण में 820 मतदान केंद्रों में वोट डाले जाएंगे। इसमें राज्य के पांच लाख 86 हजार 64 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।
सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध
आतंकवादियों की धमकियों के चलते कश्मीर में मतदान के दौरान सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। राज्य में करीब 40 हजार सुरक्षाकर्मियों को चुनाव की सुरक्षा सुनिश्चित करने का जिम्मा सौंपा गया है। पीडीपी व नेशनल कांफ्रेंस ने चुनाव का बहिष्कार किया है।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger