Home » » यहां बीते चुनाव में रोचक था मुकाबला, 44 में से 33 उम्मीदवारों की हो गई थी जमानत जब्त

यहां बीते चुनाव में रोचक था मुकाबला, 44 में से 33 उम्मीदवारों की हो गई थी जमानत जब्त

रतलाम। जिले की पांचों विधानसभा सीट पर कांग्रेस-भाजपा के साथ निर्दलीय व अन्य दलों के प्रत्याशी भी भाग्य आजमाते हैं, मतदाताओं ने अधिकांश बार कांग्रेस-भाजपा का ही साथ दिया। यही कारण है कि मैदान में रहने वाले अन्य प्रत्याशी जमानत भी नहीं बचा पाते हैं।
2013 में जिले की पांचों सीटों से कुल 44 प्रत्याशी मैदान में थे। इनमें से 33 प्रत्याशी जमानत नहीं बचा पाए थे। सर्वाधिक 15 प्रत्याशी रतलाम शहर सीट पर मैदान में थे।
रतलाम ग्रामीण : पांच प्रत्याशी, तीन की जमानत भी नहीं बची
इस सीट पर सर्वाधिक कांग्रेस का दबदबा रहा है। वर्तमान में भाजपा के मथुरालाल डामर विधायक हैं। 2013 के चुनाव में यहां पांच उम्मीदवार मैदान में थे, लेकिन मुख्य मुकाबला भाजपाकांग्रेस में ही था। शेष तीन उम्मीदवार जमानत भी नहीं बचा पाए थे। अभी इस सीट पर भाजपा से वर्तमान विधायक के साथ तीन-चार दावेदार जोर लगा रहे हैं, वहीं कांग्रेस में पांच से अधिक दावेदार टिकट की दौड़ में पसीना बहा रहे हैं।
रतलाम शहर : 15 प्रत्याशी, 13 की बुरी तरह हुई थी हार
रतलाम शहर सीट पर भाजपा का दबदबा रहा है। वर्तमान में यहां भाजपा के चेतन्य काश्यप विधायक हैं। 2013 के चुनाव में यहां 15 उम्मीदवार मैदान में थे। मुख्य मुकाबला भाजपा-कांग्रेस में रहा था। शेष 13 उम्मीदवार जमानत भी नहीं बचा पाए थे। 12 उम्मीदवार तो हजार का आंकड़ा भी नहीं छू सके थे। इस सीट पर भाजपा से वर्तमान विधायक के साथ तीन-चार दावेदार टिकट के लिए दौड़ लगा रहे हैं, वहीं कांग्रेस में भी सात से अधिक दावेदार मैदान में है।
सैलाना : आठ प्रत्याशी, पांच ने जमानत गंवाई
सैलाना सीट पर सर्वाधिक कांग्रेस का दबदबा रहा है। यहां कांग्रेस-भाजपा के अलावा जनता दल यूनाइटेड का भी वर्चस्व है। इस सीट पर हमेशा त्रिकोणीय स्थिति बनी है। वर्तमान में भाजपा से संगीता चारेल विधायक हैं। 2013 के चुनाव में यहां आठ प्रत्याशी मैदान में थे। भाजपा, कांग्रेस व जदयू में त्रिकोणीय मुकाबला हुआ था। शेष पांच प्रत्याशी जमानत भी नहीं बचा पाए थे। इस सीट पर भाजपा से वर्तमान विधायक के साथ दो दावेदारों के नाम तेजी से सामने आ रहे हैं, वहीं कांग्रेस से अब तक एक नाम ही सामने आया है।
जावरा सीट पर बारी-बारी से कांग्रेस-भाजपा का दबदबा रहा है। वर्तमान में भाजपा के डॉ. राजेंद्र पांडेय विधायक हैं। 2013 में सात प्रत्याशी मैदान में थे। मुख्य मुकाबला भाजपा-कांग्रेस के बीच रहा था। शेष पांच प्रत्याशी जमानत भी नहीं बचा पाए थे। इस सीट पर भाजपा से वर्तमान विधायक के साथ दावेदारों की लंबी फौज सामने आ रही है तो कांग्रेस में भी यही स्थिति बन रही है।
आलोट : नौ प्रत्याशी, सात की जमानत जब्त
आलोट सीट पर भाजपा का दबदबा रहा है। वर्तमान में इस सीट पर भाजपा से जितेंद्र गेहलोत विधायक हैं। 2013 के विधानसभा चुनाव में नौ उम्मीदवार मैदान में थे। मुख्य मुकाबला भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस में रहा था। शेष सात प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई थी। चार प्रत्याशी तो हजार वोट का आंकड़ा भी नहीं छू पाए थे। इस सीट पर भाजपा से वर्तमान विधायक सहित दो अन्य दावेदार सामने आ रहे हैं, वहीं कांग्रेस से दो-तीन दावेदार हैं।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger