Home » » SC/ST Atrocity Act के खिलाफ मालवा-निमाड़ में बंद का दिख रहा व्यापक असर

SC/ST Atrocity Act के खिलाफ मालवा-निमाड़ में बंद का दिख रहा व्यापक असर

मालवा-निमाड़। एट्रोसिटी एक्ट में संशोधन के खिलाफ अनारक्षित वर्ग के 114 संगठनों ने मप्र, राजस्थान समेत भारत बंद का आह्वान किया है। मध्य प्रदेश में इसे सपाक्स समाज संस्था ने समर्थन दिया है। प्रदेश भर में करीब 35 संगठन समर्थन में आए हैं। संगठनों का दावा है कि बंद के दौरान सुबह 10 से शाम 4 बजे तक प्रदेशभर में व्यापारिक प्रतिष्ठान, पेट्रोल पंप सहित बाजार बंद रहेंगे। दूध सप्लाई समेत रोजमर्रा की जरूरत की वस्तुओं को बंद से बाहर रखा है। कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस मुख्यालय ने जिलों में करीब साढ़े 10 हजार अतिरिक्त पुलिस बल भेजा है।
इंदौर, उज्जैन, मंदसौर, देवास, खंडवा, खरगोन और रतलाम सहित आस-पास के इलाकों में गुरुवार सुबह से ही बंद का असर देखने को मिला। यहां स्कूल-कॉलेजों सहित कई दुकानें भी बंद रहीं।
इंदौर के हरिसिद्धि क्षेत्र में सपाक्स समाज का बैनर लिए लोगों ने एट्रोसिटी एक्ट में संशोधन का विरोध किया। इसके साथ ही ये शिक्षा में आरक्षण बंद करने के साथ इसमें सुधार करने की तख्तियां लिए हुए थे। शहर में सांसद सुमित्रा महाजन के घर के बाहर सुरक्षा बढ़ा दी गई है।
मंदसौर के गरोठ में बंद का व्यापक असर देखने को मिला, यहां यात्री बसें बंद रहीं और सुबह से खुलने वाली कई दुकानें बंद नजर आई। बस स्टैंड पर यात्री परेशान होते रहे।
महेश्वर में इंदौर जाने वाली बसों को छोड़कर अन्य जगह के लिए जाने वाली बसों का संचालन बंद रहा। अधिकांश नाश्ते और दूध की दुकानें भी बंद रही।
सेगांव नगर पूरी तरह बंद है, यहां लोगग दूध और चाय के लिए भी परेशान होते रहे। ऐसे ही हाल आलीराजपुर जिले के रानापुर में ही दिखे, यहां नाश्ते की कोई दुकान नहीं खुली।

Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger