Home » » बीजेपी कार्यकारिणी की बैठक में PM मोदी ने कहा - विपक्ष रोज गढ़ता है नया झूठ

बीजेपी कार्यकारिणी की बैठक में PM मोदी ने कहा - विपक्ष रोज गढ़ता है नया झूठ

नई दिल्‍ली। भाजपा कार्यकारिणी की दूदूसरे दिन रविवार को बैठक के बाद प्रेस कांफ्रेंस करते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यकारिणी के समापन समारोह में अटल बिहारी वाजपेयी जी को भावभीनी श्रद्धांजलि दी। पीएम मोदी ने बीजेपी के उद्भव और विकास में अटल जी के योगदानों का जिक्र किया।
प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यकारिणी में नारा दिया, 'अजेय भारत, अटल भाजपा'। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम गुजरात में 21 सालों से सत्ता में हैं क्योंकि हम सत्ता को सेवा करने का साधन मानते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने 2019 के चुनाव को मद्देनजर रखते हुए कहा कि हमें चुनौती कहीं नजर नहीं आती। पीएम ने कहा कि लोकतंत्र में विपक्ष होना चाहिए लेकिन मुझे दुख है कि जो लोग सत्ता में विफल रहे, वे लोग विपक्ष में विफल रहे।
विपक्ष के झूठ से भी लड़ेंगे

विपक्ष ने कभी कोई महत्वपूर्ण सवाल नहीं उठाए। पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा कि विपक्ष रोज एक नया झूठ बोलता है, नया झूठ गढ़ता है। हमारी समस्या यह है कि हमें झूठ के साथ लड़ना नहीं आता। लेकिन अब एक रणनीति के साथ हम उनके झूठ से भी लड़ेंगे। पीएम मोदी ने कहा कि आजकल महागठबंधन की चर्चा है। जो लोग एक दूसरे को देख नहीं सकते, एक दूसरे के साथ चल नहीं सकते, आज एक दूसरे को गले लगाने को मजबूर हैं। उनकी यही मजबूरी हमारी सफलता है।
कांग्रेस की लीडरशिप को बोझ समझते हैं
प्रधानमंत्री ने कांग्रेस के बारे कहा कि आज छोटे-छोटे दल भी कांग्रेस की लीडरशिप को नहीं स्वीकार कर रहे हैं। कई दल तो कांग्रेस के लीडरशिप को बोझ समझते हैं। पीएम मोदी ने महागठबंधन को कुछ इस तरह परिभाषित किया। कहा- महागठबंधन मतलब नेतृत्व का पता नहीं, नीति अस्पष्ट और नियत भ्रष्ट। पीएम मोदी ने कहा कि हम सत्ता को कुर्सी के रूप में नहीं देखते बल्कि सत्ता को जनता के बीच में काम करने का उपकरण समझते हैं।
रविशंकर प्रसाद ने बताया कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि हम 2019 जरूर जीतेंगे और 2019 जीतने के बाद 50 सालों तक हमें हराने वाला कोई नहीं होगा। यह हम अहंकार के चलते नहीं बल्कि अपने काम के दम पर बोल रहे हैं।
एक देश एक चुनाव पर दबाव नहीं
पीएम मोदी ने एक देश एक चुनाव पर बहुत महत्वपूर्ण बात कही। उन्होंने कहा कि इस पर किसी को दबाव नहीं देना चाहिए लेकिन इस पर चर्चा होनी चाहिए और यह चर्चा सिर्फ राजनीतिक नहीं होनी चाहिए। अलग-अलग तरह के प्लेटफॉर्म पर इसकी चर्चा होनी जरूरी है।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger