Home » » जापान में जेबी तूफान से भारी तबाही, दस की मौत

जापान में जेबी तूफान से भारी तबाही, दस की मौत

टोक्यो। जापान अभी बाढ़ की तबाही से ठीक से उबर भी नहीं पाया था कि उस पर अब चक्रवाती तूफान जेबी की मार पड़ी है।
इसके चलते जापान के दूसरे सबसे बड़े शहर ओसाका और इसके आसपास के इलाकों में जानमाल के भारी नुकसान की खबर है।
तूफान की चपेट में आकर दस लोगों की मौत हो गई। करीब 300 लोग घायल हुए हैं। तूफान हालांकि अब कमजोर पड़ चुका है, लेकिन यह अपने पीछे भारी तबाही छोड़ गया है।
पानी भरने से देश के दूसरे सबसे व्यस्त एयरपोर्ट कांसाई को बंद करना पड़ा। वहां फंसे करीब तीन हजार यात्रियों को पानी के बीच रात गुजारनी पड़ी। उनमें से ज्यादातर को बुधवार को नावों की मदद से निकाला गया।
जापान में पिछले 25 सालों का यह सबसे शक्तिशाली तूफान बताया गया है। जेबी तूफान मंगलवार को सबसे पहले शिकोकू द्वीप से टकराया था।
इसके चलते 216 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलीं और तेज बारिश हुई। इसका सबसे ज्यादा असर ओसाका के आसपास के इलाकों में देखने को मिला। कई घरों और ऊंची इमारतों को भारी नुकसान पहुंचा है।
दर्जनों कारों समेत कई गाड़ियां ताश के पत्तों की तरह उड़कर क्षतिग्रस्त हो गईं। कांसाई एयरपोर्ट को शहर से जोड़ने वाले इकलौते पुल पर भी कई बड़े वाहन पलट गए।
ढाई हजार टन वजनी एक जहाज भी पुल से टकरा गया। अभी यह साफ नहीं हो सका है कि एयरपोर्ट को कब खोला जाएगा। इस एयरपोर्ट से रोजाना 400 उड़ानों की आवाजाही होती है।
प्रधानमंत्री शिंजो एबी ने ट्वीट किया, "सरकार राहत और बचाव कार्य में जुटी है। एयरपोर्ट पर आवाजाही बहाल करने के लिए के लिए भी काम किया जा रहा है।"
तूफान की मार
-तूफान के चलते 24 लाख लोगों के घरों की बिजली गुल हुई
12 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी गई थी
-16 हजार लोगों ने राहत शिविरों में रात गुजारी
-क्योटो शहर के कई प्राचीन मंदिरों और इमारतों को भी नुकसान पहुंचा

प्राकृतिक आपदाओं का कहर
-गत जुलाई में भारी बारिश के चलते बाढ़ की नौबत आ गई थी। इसमें 200 लोग मारे गए थे
-2011 में तलास तूफान में 82 लोगों ने जान गंवाई थी
-2013 में तूफान के चलते अकेले दक्षिण टोक्यो में 40 लोग मारे गए थे
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger