Home » » शिवपुरी और आसपास के इलाकों में बाढ़ से हालत हुए भयानक

शिवपुरी और आसपास के इलाकों में बाढ़ से हालत हुए भयानक

शिवपुरी। करैरा अनुविभाग के सीहोर थाना अंतर्गत बेहगंवा व पुला गांव के बीच सिंध नदी के तेज बहाव में एक दर्जन से ज्यादा लोग पानी के तेज बहाव में फंस गए हैं। दो दिन से हो रही बारिश के बीच यहां पर सिंध नदी उफान पर हैं और शुक्रवार- शनिवार को को सिंध नदी में पानी बढ़ने के बाद गांव के यह लोग फंस गए। प्रशासन के पास भी कुछ ग्रामीणों व जनप्रतिनिधियों ने इसकी सूचना दी है। सीहोर थाना प्रभारी दिनेश बिरथरे ने बताया कि पानी में फंसे लोगों को निकालने के प्रयास हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि गांव में पानी बढ़ने के बाद नदी की धारा जो गांव के पास से निकली है उसमें पानी बढ़ने के बाद यह लोग फंसे हैं। अभी इन लोगों को गांव के मकानों पर ऊपर चढ़ा दिया गया है। फिलहाल इन्हें निकालने के प्रयास जारी हैं।
शिवपुरी के सतनवाडा इलाके में 6 लोग सिंध नदी में फंस गए हैं। वह जान बचाने के लिए पेड़ पर चढ़े हुए हैं। इनके नाम मोहरसिंह वेस, टिल्लू बाथम, रचना पत्नी टिल्लू, लवकुश टिल्लू हैं। इधर टपकेश्वर के कल्याणपुर में भी 8 से 10 लोग सिंध के बीच फंसे हुए हैं। वह भी जान बचाने के लिए पेड़ पर चढ़े हुए हैं।
पिछोर के हिम्मतपुर मे आकाशीय बिजली गिरने से पक्का मकान धराशाई हो गया। मकान गिरने से पांच बकरियों की दबकर मौत हो गई। मकान बलवीर पुत्र सुखलाल गडरिया का है मकान गिरने से मकान मालिक परिवार सहित बाल-बाल बच गया।
देर रात से लगातार हो रही बारिश के बाद अर्थी डैम महज चार पेट खाली रह गया है। मड़ीखेड़ा से पानी छोड़ा जा रहा है। प्रशासन ने इसको लेकर 24 गांव को अलर्ट कर दिया है।
पोहरी क्षेत्र में भारी बारिश
पोहरी क्षेत्र में भारी बारिश से कूनो नदी के उफान पर आने से कई गांवों मे पानी घुस गया है। करोड़ों की लागत से प्रधानमंत्री सड़क योजना में बने पुल के तेज बहाव में बहने की खबर है। साथ ही डिगडोली मैं महाकाल कंट्रक्शन कंपनी ग्वालियर का पूरा सामान बाढ़ में बह गया है। बहने वाले सामानों में रेतएवं गिट्टी के साथ साथ कैंप का पूरा सामान सुरेंद्र मशीनरी की 200 मशीनें शामिल है। खरवा गांव में बाढ़ का पानी अंदर घुस रहा है वही टुकी भवेढ़ चक इंदूर खी आदि अनेक ग्रामों में बाढ़ का संकट बरकरार है अभी तक कोई भी प्रशासनिक मदद वहां नहीं पहुंची है हजारों की तादात में मवेशियों जानवरों के डूबने और बहने के समाचार हैं। पोहरी एसडीएम से लगातार संपर्क किया गया, लेकिन इसके बावजूद एसडीएम अभी तक जायजा लेने नही पहुंचे हैं।
कोलारस में गुंजार नदी के 10 साल बाद उफान पर आने से चारों और पानी ही पानी हो गया है। बाढ़पीड़ितों के लिए गुरुद्वारे में लंगर की सेवा आरंभ की गई है। भौंती के पास अखाई नाले पर पुलिया निर्माण के चलते किनारे से कच्ची रास्ता बना दी गई थी। आज रात हुई जोरदार बारिश से यह कच्चा रास्ता बह गया। इससे चन्देरी पिछोर से शिवपुरी की ओर जाने बाली एकमात्र सड़क से आवागमन ठप हो गया।
प्राप्त समाचार के अनुसार 7 तारीख के शाम से ही भौंती ओर आसपास के क्षेत्र में तेज बारिश हो रही है। रात भर चली बारिश से आसपास के ताल तलैया भी ओवरफ्लो हो गए हैं। सिरसौद पिछोर रोड पर के सी सी कम्पनी द्वारा अधिकांश पुलियाँ बना दी गईं हैं लेकिन भौंती के नजदीक अखाई की पुलिया का निर्माण धीमी गति के चलते अभी तक पूरा नहीं हो सका जिसका खामियाजा जनता को भुगतना पड़ रहा है । के सी सी के प्रोजेक्ट मैनेजर हिमांशु प्रताप का कहना है कि पानी रुकने पर तीन घण्टे में रास्ता चालू कर देंगे हालांकि आज मौसम के तेवर देखते हुए पानी रुकने के आसार कम ही नजर आरहे हैं ऐसी स्थिति में दिनभर आवागमन ठप्प हो सकता है ।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger