Home » » MP में मरीजों को मिलेगी वातावरण की ऑक्सीजन, 20 जिला अस्पतालों में लगेंगे प्लांट

MP में मरीजों को मिलेगी वातावरण की ऑक्सीजन, 20 जिला अस्पतालों में लगेंगे प्लांट

भोपाल। ऑक्सीजन खत्म होने से मरीजों की हालत बिगड़ने या मौत की घटनाएं सामने आने के बाद सरकार ने इसका स्थायी हल निकाला है। मरीजों को जल्द ही वातावरण की ऑक्सीजन सप्लाई की जाएगी। इसके लिए भोेपाल के जेपी अस्पताल समेत प्रदेश के 20 जिला अस्पतालों में प्लांट लगाए जा रहे हैं। पहले चरण में 300 बिस्तर से ज्यादा वाले जिला अस्पतालों को लिया गया है। यहां यह व्यवस्था सफल रही तो बाकी जिला अस्पतालों में भी ऐसे प्लांट बनाए जाएंगे।
स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने बताया कि बैतूल जिले के पाढर में बने निजी अस्पताल में ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट लगा है। बाकी किसी भी सरकारी मेडिकल कॉलेज या जिला अस्पताल में यह सुविधा नहीं है।
प्लांट से पाइप लाइन के जरिए मरीज के बेड तक ऑक्सीजन की सप्लाई की जाएगी। इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि ऑक्सीजन खत्म होने का जोखिम नहीं रहेगा। साथ ही मरीज को फौरन ऑक्सीजन मिल जाएगी। अभी सिलेंडर लाकर लगाने में वक्त लगता है। यह व्यवस्था सस्ती भी पड़ेगी।
ऑक्सीजन सिलेंडर खत्म होने से कई हादसे हुए
पिछले साल अगस्त में गोरखपुर के एक मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई बंद होने से 33 मासूमों की मौत हो गई थी। मध्यप्रदेश में इंदौर के एमवाय व चाचा नेहरू अस्पताल में आक्सीजन खत्म होने से मौत के मामले सामने आ चुके हैं।
ऐसे काम करता है प्लांट
प्लांट में वातावरण से गैसों को खींचने की क्षमता होती है, जिससे ऑक्सीजन व नाइट्रोजन को खींच लिया जाता है। इसके बाद नाइट्रोजन को बाहर निकाला जाता है। ऑक्सीजन को फिल्टर करने के बाद कंप्रेस्ड फार्म में एक टैंक में रखा जाता है। यहां से पाइप लाइन के जरिए अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई की जाती है।
20 बड़े सिलेंडर के बराबर होगी क्षमता
हर अस्पताल के प्लांट की क्षमता 20 जंबो (बड़े) सिलेंडर के बराबर ऑक्सीजन रोजाना बनाने की होगी। 300 बिस्तर से बड़े अस्पतालों में लगभग इतने ही सिलेंडर रखे जाते हैं। हालांकि, इनका उपयोग 25 फीसदी भी रोजना नहीं होता। स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने बताया कि एक अस्पताल में प्लांट लगाने का खर्च 50 लाख रुपए है।
सिलेंडर से ऑक्सीजन सप्लाई में यह आ रही थी दिक्कत
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger