Home » , » यूपी में डीजी होमगार्ड ने लिखी चिट्ठी, कहा- योजना आयोग का उपाध्यक्ष बना दीजिए CM

यूपी में डीजी होमगार्ड ने लिखी चिट्ठी, कहा- योजना आयोग का उपाध्यक्ष बना दीजिए CM

लखनऊ। नौकरशाह सेवानिवृत्ति के बाद राजनीति करते हैं। किताब भी लिखते हैं और तब उस सिस्टम की भर्त्सना करते हैं, जिससे कम से कम तीन दशक तक वह फायदे लेते रहे और उसे सुधारने के लिए कुछ नहीं किया। उन्हें रिटायरमेंट के बाद कोई सरकारी पद भी चाहिए ताकि उनके राजसी ठाठ कायम रहें। इस बार किसी बड़े पद पर सवार होकर समाजसेवा की इच्छा होमगार्ड्स महानिदेशक (डीजी) डॉ. सूर्य कुमार शुक्ला ने जताई है।
31 अगस्त को रिटायर हो रहे डॉ. शुक्ला को समाजसेवा करने के लिए चार प्रमुख पदों में कोई एक पद चाहिए। या तो सरकार उन्हें योजना आयोग (अब नीति आयोग) का उपाध्यक्ष बना दे या खादी ग्रामोद्योग बोर्ड, राज्य समाज कल्याण बोर्ड अथवा उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड में किसी एक का अध्यक्ष बना दे।
उन्होंने अपनी यह इच्छा किसी और से नहीं खुद मुख्यमंत्री से व्यक्त की है। इस निमित्त बाकायदा एक पत्र भी लिख दिया है। सोशल मीडिया पर वायरल यह पत्र 23 जुलाई को लिखा गया था। इसमें वह यह भी लिख गए कि 2019 के आम चुनाव में वह मुख्यमंत्री का सक्रिय सहयोग करना चाहते हैं।
पत्र पर नईदुनिया के सहयोगी प्रकाशन "दैनिक जागरण" ने उनकी प्रतिक्रिया चाही तो उनका जवाब था कि "यह व्यक्तिगत पत्र है और मैंने किसी नियम का उल्लंघन तो किया नहीं।" यह कहने पर कि आप रिटायरमेंट के बाद चाहे जिस दल को ज्वाइन करें लेकिन अभी आप सरकारी नौकरी कर रहे हैं।
उनका जवाब था कि "पत्र में 2019 में भाजपा को सहयोग वाला अंश लगता है किसी ने शरारत करजोड़ दिया है।" बाकी पत्र उन्होंने माना कि उनका लिखा हुआ है। डॉ. शुक्ला लिखते हैं कि "मुख्यमंत्री जी, मैं आपको मार्गदर्शक व आदर्श मानते हुए सेवानिवृत्त होने के बाद सामाजिक कार्य करना चाहता हूं।"
पत्र यह भी कहता है कि उन्हें जो पेंशन मिलेगी, वह उनके व परिवार के भरण-पोषण के लिए पर्याप्त होगी।उन्होंने कहा कि "यदि शासन, सामाजिक संगठन अथवा राजनीतिक संगठन की ओर से कोई प्रस्ताव आता है तो वह समाजसेवा के लिए तैयार हैं।"उल्लेखनीय है कुछ समय पहले होमगार्ड्स विभाग ने नमामि गंगे यात्रा का आयोजन किया था।
डॉ. शुक्ला विभिन्न कार्यक्रमों में इसे अपनी व विभाग की बड़ी उपलब्धि के रूप में प्रचारित करते रहे हैं। फरवरी माह में जारी एक वीडियो में तो डॉ. शुक्ला डीजी पद पर रहते हुए राममंदिर निर्माण का संकल्प दोहराते भी नजर आए थे। इस वीडियो को लेकर भी एक आईपीएस अधिकारी के इस प्रकार सार्वजनिक कार्यक्रम में धार्मिक संकल्प को सेवा नियमावली व आचरण के विपरीत माना गया था।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger