Home » » दो लाख करोड़ रुपये के पार पहुंचा भारतीय स्टेट बैंक का एनपीए

दो लाख करोड़ रुपये के पार पहुंचा भारतीय स्टेट बैंक का एनपीए

नई दिल्ली। सार्वजनिक क्षेत्र के सबसे बड़े कर्जदाता भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआइ) को चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में भी बढ़ते एनपीए की बड़ी मार झेलनी पड़ी है। बैंक ने शेयर बाजारों को पहली तिमाही की वित्तीय जानकारी के माध्यम से बताया है कि इस वर्ष जून के अंत तक उसका सकल फंसा कर्ज (एनपीए) 2,12,840 करोड़ रुपये पर पहुंच गया है।
समीक्षाधीन अवधि के वित्तीय नतीजों के मुताबिक यह रकम बैंक के कुल जमा का 10.69 फीसद है। पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में बैंक का ग्रॉस एनपीए 1,88,068 करोड़ रुपये (9.97 फीसद) रहा था। एनपीए की चोट के चलते चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में उसे 4,876 करोड़ रुपये का घाटा उठाना पड़ा है। इस तिमाही को मिलाकर पिछली लगातार तीन तिमाही से बैंक नुकसान उठा रहा है।
पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में बैंक को 2,006 करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ हुआ था। हालांकि कमाई और शुद्ध एनपीए के मोर्चे पर पहली तिमाही में एसबीआइ को थोड़ी राहत मिली है। समीक्षाधीन अवधि में बैंक की कुल कमाई 65,492.67 करोड़ रुपये रही।
पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में बैंक ने कुल 62,911.08 करोड़ रुपये कमाए थे। पहली तिमाही में बैंक का शुद्ध एनपीए थोड़ा घटकर 99,236 करोड़ रुपये (5.29 फीसद) रहा, जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 1,07,560 करोड़ रुपये रहा (5.97 फीसद) था।
स्टॉक्स दबाव में, पूंजीकरण घटा-
बैंक के इस कमजोर प्रदर्शन का सीधा असर शेयर बाजारों में उसके शेयरों पर दिखा। बीएसई में एसबीआइ के शेयर इंट्रा डे में करीब पांच फीसद तक लुढ़क गए। हालांकि कारोबार के आखिर में वे 3.79 फीसद गिरावट के साथ 304.45 रुपये के भाव पर बंद हुए। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) में भी बैंक के शेयर 4.63 फीसद गिरकर 302.70 रुपये के स्तर पर बंद हुए।
बीएसई में बैंक के 64.62 लाख, जबकि एनएसई में 11 करोड़ से ज्यादा शेयरों की खरीद-फरोख्त हुई। शेयरों में इस गिरावट के चलते शुक्रवार को बैंक का बाजार पूंजीकरण 10,708.93 करोड़ रुपये गिरकर 2,71,709.07 करोड़ रुपये रह गया।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger