Home » » उन्नाव केस के गवाह की मौत के बाद अंतिम संस्कार, राहुल गांधी ने बताया साजिश

उन्नाव केस के गवाह की मौत के बाद अंतिम संस्कार, राहुल गांधी ने बताया साजिश

उन्नाव। यूपी के उन्नाव स्थित माखी कांड में दुष्कर्म के आरोपित विधायक कुलदीप सिह सेंगर से जुड़े प्रकरण में पीड़िता के पिता की हत्या में सीबीआई के मुख्य गवाह की रहस्यमय हालात में मौत हो गई। पुलिस और सीबीआई को सूचना दिए बिना ही उसका आनन-फानन में उसे दफना दिया गया। मामला सामने आने के बाद अब इस पर राजनीतिक रंग चढ़ने लगा है।
पीड़िता के चाचा ने गवाह की साजिशन हत्या किए जाने की बात कहते हुए पोस्टमार्टम कराकर जांच कराने की मांग की थी। वहीं अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी ट्वीट कर इसे साजिश करार दिया है।
उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर की संलिप्तता वाले उन्नाव बलात्कार एवं हत्या मामले के मुख्य प्रत्यक्षदर्शी की रहस्यमय ढंग से हुई मौत और पोस्टमार्टम के बिना जल्दबाजी में दफनाए जाने से साजिश की बू आती है। क्या ‘हमारी बेटियों के लिए न्याय’ का आपका यह तरीका है, श्रीमान 56?
बता दें कि दुष्कर्म पीड़िता के पिता की हत्या के मामले में माखी गांव निवासी यूनुस नाम के एक परचून दुकानदार को सीबीआई ने प्रत्यक्षदर्शी के रूप में मुख्य गवाह बनाया था। पीड़िता के चाचा ने बताया कि बीते शनिवार को उसकी मौत हो गई, जिसके बाद किसी को भी जानकारी दिए बिना ही शव को दफना दिया गया।
उन्होंने कहा कि चश्मदीद गवाह की मौत किसी साजिश का हिस्सा हो सकती है। इस प्रकरण की भी जांच होनी चाहिए। उन्होंने इसकी जानकारी सीबीआई को भी देने की बात कही है।
विधायक की संपत्ति पर उठाए सवाल
दुष्कर्म मामले में आरोपित विधायक कुलदीप सिंह के पक्ष में चार माह बाद मीडिया से मुखातिब हुईं जिला पंचायत अध्यक्ष के बयान पर मंगलवार को पीड़िता के चाचा ने पलटवार किया। मंगलवार को एक होटल में आयोजित वार्ता के दौरान आरोप लगाया कि विधायक की जिला पंचायत अध्यक्ष पत्नी ने अपने प्रभाव का फायदा उठाते हुए पीड़िता के पिता की मौत पर मिलने वाली किसान दुर्घटना बीमा की सहायता को रुकवा दिया।
इससे पहले जिला पंचायत अध्यक्ष ने लखनऊ में प्रेस के सामने कहा था कि यदि सीबीआई उनके पति पर आरोप तय करती है तो वह और उनके पति (विधायक) राजनीति एवं सामाजिक जीवन से त्यागपत्र दे देंगे। पीड़िता के चाचा ने कहा कि देश की सर्वोच्च जांच एजेंसी ने आरोप पत्र दाखिल कर दिया है, अगर उनमें नैतिकता है तो पद क्यों नहीं छोड़तीं।
उन्होंने कुलदीप सिंह के छोटे भाई अतुल सिंह की पत्नी जो माखी की प्रधान भी हैं, पर आर्थिक घालमेल का आरोप लगाते हुए आय का स्त्रोत बताने की बात कही। पीड़िता के चाचा ने विधायक व उनके कई करीबियों की संपत्ति को लेकर भी सवाल खड़े किए।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger