Home » » पेप्सीको से नाता तोड़ेंगी सीईओ इंदिरा नूई, इन्हें मिलेगी कमान

पेप्सीको से नाता तोड़ेंगी सीईओ इंदिरा नूई, इन्हें मिलेगी कमान

नई दिल्ली। दुनिया की सबसे बड़ी बेवरेज कंपनियों में शामिल पेप्सीको की भारतीय मूल की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) इंद्रा नूई ने इस वर्ष तीन अक्टूबर को पद छोड़ देने की घोषणा की है। नूई 24 वर्षों से पेप्सीको से जुड़ी हुई हैं और पिछले 12 वर्षों में सीईओ के तौर पर कंपनी को कई नए मुकाम पर पहुंचा चुकी हैं। हालांकि उनके पद छोड़ने की वजहें फिलहाल स्पष्ट नहीं हैं।
कंपनी के निदेशक बोर्ड ने उनकी जगह मौजूदा प्रेसिडेंट रेमन लेगार्टा को नया सीईओ नामित किया है। लेगार्टा को सोमवार को ही निदेशक बोर्ड में भी शामिल किया गया। कंपनी के मुताबिक इन दोनों के अलावा शीर्ष नेतृत्व में कोई बदलाव नहीं किया गया है।
फैसले के बाद एक बयान में नूई ने कहा, "भारत में पलते-बढ़ते मैंने कभी नहीं सोचा था कि मुझे ऐसी असाधारण कंपनी का नेतृत्व करने का मौका मिलेगा।" वहीं, सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट ट्विटर पर नूई ने कहा, "हमारे साझेदारों के हितों की रक्षा के लिए पिछले 12 वर्षों में हमने जो भी किया, उस पर मुझे बेहद गर्व है। हमारी ग्लोबल टीम में बेहतरीन से स्पर्धा करने और बेहतरीन बने रहने की गजब की भूख है, जिसकी मैं प्रशंसक हूं।"
ट्विटर पर उन्होंने यह भी कहा कि पिछले 24 वर्षों से पेप्सीको उनकी जिंदगी का हिस्सा रही है और उनके दिल के एक कोने में पेप्सीको हमेशा बनी रहेगी। उन्होंने उम्मीद जताई कि पेप्सीको के बेहतरीन दिन अभी आने बाकी हैं।
नूई ने वर्ष 2006 में ऐसे वक्त में पेप्सीको के सीईओ का पदभार संभाला था, जब कंपनी भारत के कई हिस्सों में प्रतिबंध की संभावनाओं का सामना कर रही थी।
उन्होंने पिछले एक दशक में पेप्सीको को प्रोडक्ट पोर्टफोलियो में विस्तार के जरिये बेवरेज कंपनी की छवि से बाहर निकालने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। अग्रणी बिजनेस पत्रिका फॉर्च्यून ने नूई को पिछले वर्ष अमेरिका के बाहर कारोबार में सबसे ताकतवर महिलाओं में दूसरे स्थान पर रखा था। वे सबसे ज्यादा वेतन पाने वाली महिला सीईओ भी रहीं।
पिछले 22 वर्षों से पेप्सीको का हिस्सा रहे और पिछले वर्ष सितंबर में प्रेसिडेंट नियुक्त हुए लेगार्टा ने कहा कि नूई ने अपने मजबूत इरादों और बेहतरीन नेतृत्व क्षमता से कंपनी को नई ऊंचाई पर पहुंचाया। वहीं, कंपनी के निदेशक बोर्ड की तरफ से पीठासीन निदेशक इयान कुक ने कहा कि नूई ने पिछले 12 वर्षों में कंपनी को असाधारण नेतृत्व प्रदान किया। वे कंपनी के भीतर और बाहर खुद को एक मिसाल के तौर पर स्थापित किया। कुक ने कहा कि नूई के कार्यकाल में कंपनी ने बेहतरीन वित्तीय प्रदर्शन किया है।
नूई ने अक्टूबर, 2006 में सीईओ का पदभार संभाला था। उनके कार्यकाल में पिछले वर्ष आखिर तक कंपनी के शेयरधारकों को 162 फीसद रिटर्न मिला, जबकि लाभांश और शेयर खरीद के माध्यम से शेयरधारकों को 79 अरब डॉलर से ज्यादा की रकम लौटाई गई। वर्ष 2006 के आखिर में पेप्सीको का वैश्विक राजस्व करीब 35 अरब डॉलर था, जो पिछले वर्ष के आखिर तक लगभग 64 अरब डॉलर पर पहुंच चुका है।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger