Home » » कर्मक्षेत्र यूपी में मंगलवार लाई जा सकती हैं अटलजी की अस्थियां

कर्मक्षेत्र यूपी में मंगलवार लाई जा सकती हैं अटलजी की अस्थियां

लखनऊ। अपने संसदीय क्षेत्र और कर्मभूमि लखनऊ से पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का गहरा नाता रहा है। उनके निधन के बाद से ही यहां शोक की लहर है। रविवार को यहां उनकी अस्थियां लायी जानी थीं लेकिन, अब मंगलवार को हरिद्वार से विशेष विमान से 20 अस्थि कलश आ सकते हैं। भाजपा संगठन और सरकार की ओर से अटल की स्मृतियों को भव्य रूप देने की तैयारी चल रही है जिसे अभी अंतिम रूप नहीं दिया जा सका है।
सूत्रों के मुताबिक, मंगलवार को होने वाली कैबिनेट बैठक में अटल की स्मृतियों से जुड़े कुछ अहम फैसले किये जा सकते हैं। ऐसी स्थिति में मंगलवार को अस्थिकलश लाने का कार्यक्रम स्थगित कर इसे बुधवार को भी लाया जा सकता है। भाजपा ने अधिकृत तौर पर इसके लिए तारीख तय नहीं की है। लखनऊ लाये जाने के बाद प्रदेश के सभी 18 मंडलों के लिए अलग-अलग अस्थिकलश यात्राएं रवाना होंगी। अस्थियों को प्रमुख नदियों में प्रवाहित किया जाएगा।
भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय और संगठन महामंत्री सुनील बंसल ने कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार की है। इसके लिए पार्टी के प्रमुख पदाधिकारियों की जिम्मेदारी और जवाबदेही तय की गई है। अटलजी के प्रति उमड़ रही भावनाओं के ज्वार को एक बड़ा मंच देने की तैयारी की गई है। रविवार को हरिद्वार में उनकी अस्थियां प्रवाहित की जानी थी इसलिए लखनऊ के आयोजन को टाल दिया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हरिद्वार पहुंचे थे। अब अस्थि कलश लेने डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय, संगठन के पदाधिकारी और राज्य सरकार के मंत्री जाएंगे।
भाजपा मुख्यालय में दर्शनार्थ रखे जाएंगे अस्थिकलश
मंगलवार को भाजपा मुख्यालय में अटल के अस्थिकलश दर्शनार्थ रखे जाएंगे। फिर प्रदेश के 18 मंडल मुख्यालयों के लिए कलश यात्राएं रवाना की जाएंगी। हर मंडल में एक प्रमुख नदी में अस्थियों का विसर्जन होगा। मसलन मेरठ मंडल में गढ़मुक्तेश्वर में गंगा नदी, सहारनपुर के सरसांवा में यमुना, मुरादाबाद में रामगंगा, आगरा में यमुना, चित्रकूट में मंदाकिनी, झांसी में बेतवा, अयोध्या में सरयू, गोरखपुर में राप्ती, आजमगढ़ में तमसा, इलाहाबाद में संगम में अटल की अस्थियां विसर्जित होंगी।
लखनऊ में गोमतीनदी के किनारे झूलेलाल पार्क में 23 अगस्त को एक श्रद्धांजलि सभा आयोजित की जा रही है। भाजपा उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर ने बताया कि इस सभा में अटलजी की दत्तक पुत्री समेत उनका परिवार शामिल होगा। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रमुख राजनीतिक दलों के अध्यक्ष, धर्म गुरू और लखनऊ महानगर के लोग अटलजी के प्रति अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। शाम को उनका अस्थिकलश गोमती नदी में प्रवाहित किया जाएगा।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger