Home » » करुणानिधि के दफनाने की जगह को लेकर विवाद, हाई कोर्ट में सुनवाई जारी

करुणानिधि के दफनाने की जगह को लेकर विवाद, हाई कोर्ट में सुनवाई जारी

चेन्नई। देश के वयोवृृद्ध नेता और तमिलनाडु से लेकर केंद्र तक की सियासत में लंबे समय तक बड़ी भूमिका निभाने वाले मुत्तुवेल करुणानिधि का अंतिम संस्कार बुधवार को होना है, लेकिन उनको दफनाने की जगह पर विवाद हो गया है। राज्य सरकार ने इसके लिए मरीना बीच पर जगह देने से इन्कार कर दिया है। राज्य सरकार के फैसले के खिलाफ रात में ही द्रमुक मद्रास हाई कोर्ट चली गई थी। आज सुबह 8 बजे से हाई कोर्ट में सुनवाई चल रही है।
गौरतलब है कि राज्य में सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक की सुप्रीमो रहीं जे. जयललिता को मरीना बीच पर ही दफनाया गया था। द्रविड़ नेताओं को दाह संस्कार के बजाय दफनाने की लंबी परंपरा रही है। यहां तक कि अन्ना दुरई और एमजीआर सहित ज्यादातर द्रविड़ नेता दफनाए ही गए।
करुणानिधि पिछले 10 दिनों से चेन्नई के कावेरी अस्पताल में भर्ती थे। मंगलवार शाम छह बजकर दस मिनट पर उन्होंने अंतिम सांस ली। पार्थिक शरीर को कावेरी अस्पताल से गोपालपुरम आवास ले जाया गया है। बुधवार सुबह राजाजी हॉल में अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है। पूरे तमिलनाडु से जुट रहे द्रमुक समर्थकों की संख्या को देखते हुए पुलिस हाई अलर्ट पर है।
करुणानिधि 94 साल के थे। वह अपने पीछे दो पत्नियां, छह पुत्र-पुत्रियां छोड़ गए हैं। द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन उनके बेटे हैं। उनकी बेटी कनीमोरी राज्यसभा की सदस्य हैं। द्रमुक प्रमुख करुणानिधि पांच बार मुख्यमंत्री रहे।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शोक जताते हुए कहा, 'कलैनार के नाम से लोकप्रिय नेता का जाना अपूरणीय क्षति है।' प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई नेताओं ने उनके निधन पर दुख जताया है। तमिलनाडु सरकार ने बुधवार को छुट्टी और राज्य में सात दिनों के शोक की घोषणा की है। दिल्ली और देश की राजधानियों में भी उनके सम्मान में बुधवार को राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा।
अंतिम दर्शन के लिए प्रधानमंत्री जाएंगे
करुणानिधि के अंतिम दर्शन के लिए प्रधानमंत्री मोदी और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण बुधवार सुबह 10.40 पर चेन्नई पहुंचेंगे। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और अन्य नेता भी बुधवार को ही पहुंचेंगे। इस बीच, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मंगलवार रात में ही पहुंच चुकी हैं।
पीएम मोदी ने कहा, हमेशा याद रखेगा देश प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट किया, 'करुणानिधि के निधन से गहरा धक्का लगा। वह देश के वरिष्ठतम नेताओं में से एक थे। हमने जमीन से जुड़े एक नायक को खो दिया है। लोकतंत्रिक मूल्यों के लिए प्रतिबद्ध नेता को आपातकाल के खिलाफ कड़े विरोध के लिए याद किया जाएगा।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger