Home » » नक्सलियों ने खोद डाली थी सड़क, बच्चों ने पाट दिया

नक्सलियों ने खोद डाली थी सड़क, बच्चों ने पाट दिया

दंतेवाड़ा । दक्षिण बस्तर में नक्सली आतंक बना हुआ है। नक्सलियों ने स्वतंत्रता दिवस का बहिष्कार करते काला झंडा फहराने का आव्हान करते सड़कों को काट दिया था। बावजूद स्वतंत्रता दिवस को अंदरूनी गांव में तिरंगा शान से लहराने बच्चों के साथ ग्रामीण सामने आए। धनीकरका में करीब चार सौ बच्चों ने क्षतिग्रस्त सड़क को दुरुस्त करने फावड़ा और तगाड़ी उठाया। काटी गई सड़क को पाटा और शिक्षकों सहित ग्रामीणों के लिए रास्ता सुगम बनाया।
बच्चों का उद्देश्य केवल इतना है कि रास्ता सही होगा तो आश्रम में राशन और शिक्षक नियमित आएंगे। इससे पढ़ाई बाधित नहीं होगी। कुआकोंडा ब्लॉक के ग्राम धनीकरका में आवासीय विद्यालय (पोटाकेबिन) है, जहां कक्षा छठवीं से 10वीं तक करीब 400 विद्यार्थी अध्ययनरत हैं। संस्था में अधीक्षक, प्राचार्य सहित एक दर्जन से अधिक शिक्षकों की पदस्थापना है। गांव पहुंच मार्ग में नक्सलियों ने कई जगह क्षति पहुंचाते बड़े- बड़े गड्ढे कर दिए हैं। इससे शिक्षकों सहित ग्रामीणों को गांव पहुंचने में दिक्कत होती है। बारिश के दिनों में सबसे ज्यादा परेशानी होती है।
बाइक या अन्य वाहनें गांव तक आसानी से नहीं पहुंच पाती। ग्रामीण और आश्रम शाला में बच्चों के लिए राशन भी पहुंचाना कष्टप्रद होता है। पिछले दिनों से लगातार हो रही बारिश से गड्ढों में पानी भर चुका है। इसे देखते पोटाकेबिन के विद्यार्थियों ने 14 अगस्त को मार्ग दुरूस्त करने का निर्णय लिया। छात्रों ने ग्रामीणों के सहयोग से कुदाली- फावड़ा लेकर गड्ढा पाट दिया। करीब पांच फीट गहरा और 10 फीट चौड़े गड्ढे में आसपास की मिट्टी और पत्थर भरकर चलने के काबिल बना दिया है। 15 अगस्त को शिक्षक भी आसानी से संस्था में पहुंचे और तिरंगा फहराया।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger