Home » » सुल्तानगढ़ हादसा : सभी 9 शव बरामद, शव को लात मारने वाला आरक्षक सस्पेंड

सुल्तानगढ़ हादसा : सभी 9 शव बरामद, शव को लात मारने वाला आरक्षक सस्पेंड

शिवपुरी/ग्वालियर। शिवपुरी के सुल्तानगढ़ वॉटर फॉल हादसे तेज पानी में बहे सभी 9 लोगों के शव मिल गए हैं। आपको बता दें कि सुल्तानगढ़ के झरने में 15 अगस्त की शाम बड़ा हादसा हुआ था जब कई लोग झरने के तेज बहाव में बह गए थे। एसपी राजेश हिंगणकर ने पुष्टि करते हुए बताया रेस्क्यू टीम ने 40 लोगों को बचा लिया था लेकिन 11 लोग बह गए थे। इनमें से 2 लोगों को स्थानीय लोगों ने बचा लिया था, लेकिन 9 बह गए थे। इन सभी के शव झरने के तलहटी में मिल गए हैं। इधर रेस्क्यू टीम ने जहां कई लोगों की जान बचाई, वहीं पुलिस का अमानवीय चेहरा भी सामने आया। आरक्षक रामवरन रावत ने लात मारकर शव हटाया। इसका वीडियो वायरल हुआ, जिसके बाद एसपी ने आरक्षक को सस्पेंड कर लाइन अटैच कर दिया गया है।
जानकारी के मुताबिक सुल्तानगढ़ फॉल हादसे में रेस्क्यू के दौरान आरक्षक रामवरन रावत ने मृत युवक के शव को लात मारकर स्ट्रेचर से हटाया था। आरक्षक द्वारा लात मारने का वीडियो सामने आया। ये वीडियो सामने आने के बाद एसपी नवनीत भसीन ने आरक्षक को सस्पेंड कर लाइन अटैच कर दिया। ये आरक्षक मोहना थाने में पदस्थ था।
इससे पहले रेस्क्यू टीम को झरने में बहे सभी 9 शव मिल गए। शहर से करीब 57 किमी दूर सुल्तानगढ़ में 15 अगस्त को कई लोग पिकनिक मनाने पहुंचे थे। दोपहर में हुई तेज बारिश और पहाड़ों से बहकर आए पानी ने अचानक सैलाब का रूप ले लिया। जिसमें एक चट्टान पर 45 लोग फंस गए जबकि 11 लोग उफनते पानी में बह गए थे।
बहे 11 युवकों में से दो युवक किसी तरह से किनारे पर आ गए थे, लेकिन 9 युवकों का कुछ भी पता नहीं चल रहा था। लगातार होमगार्ड, एनडीईआरएफ की टीमें स्थानीय गोताखोरों की मदद से बहे युवाओं की तलाश कर रही थीं। उफनते पानी में बहे 9 में से 8 लोगों के शव शुक्रवार की शाम रेस्क्यू थमने तक बरामद कर लिए गए थे। पहले दिन कोई सफलता नहीं मिली थी, लेकिन घटना के तीसरे दिन सबसे पहले दो शव बरामद हुए। दोपहर तक पांच और शाम तक 8 शव बरामद हो चुके थे।
इनके शव मिले
निशिकांत (21) पुत्र श्यामलाल कुशवाह निवासी खल्लासीपुरा शिंदे की छावनी, फैज उर्फ फैजल अली (19) पुत्र माजिद अली, अहमदनगर घोसीपुरा बहोड़ापुर ग्वालियर, सोनू उर्फ सुरेन्द्र (17) पुत्र वीरेन्द्र चौहान निवासी चंदन नगर, ठाकुर मोहल्ला, अभिषेक पुत्र रामसेवक कुशवाह निवासी गिरवाई, लोकेन्द्र (18) पुत्र भगवान सिंह कुशवाह निवासी गिरवाई नाका ग्वालियर, भूपसिंह पुत्र गोपालसिंह कुशवाह निवासी गिरवाई, छोटू उर्फ विशाल पुत्र प्रदीप सिंह चौहान निवासी पीएचई कॉलोनी चार शहर का नाका ग्वालियर, व रवि पुत्र मोहनसिंह कुशवाह निवासी गिरवाई और सूरज कुबेर के शव बरामद कर लिए हैं।
मृतक के परिजन को 4-4 लाख की सहायता
हादसे में जान गंवाने वाले युवाओं के परिवार को शासन की ओर से 4-4 लाख रुपए देने की घोषणा की गई है। पोस्टमार्टम हाउस पर पहुंचकर ही अधिकारियों ने कागजी कार्रवाई पूरी कर ली थी। 24 से 30 घंटे के भीतर सहायता राशि पीड़ित परिवार के खातों में पहुंच जाएगी।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger