Home » » भाई को सुबह 5.30 बजे फोन करके जगाया और खुद मौत की नींद सो गई

भाई को सुबह 5.30 बजे फोन करके जगाया और खुद मौत की नींद सो गई

जबलपुर। भईया उठ जाओ सुबह हो गई है। मैं ऑफिस से रूम जा रही हूं। यह बातें ग्वारीघाट रोड स्थित बादशाह हलवाई मंदिर के समीप स्थित भसीन मेट्रोपॉलिश अपार्टमेंट में रहने वाली इंदौर में एमएनसी कंपनी में पदस्थ निकिता वासवानी (28) ने रोज की तरह अपने दिल्ली में रहने वाले भाई से 5.30 बजे कही।
भाई अंशु ने भी रोज की तरह हां दीदी उठ गया, बोलकर फोन रख दिया। लेकिन अंशु को नहीं मालूम था कि वह अपनी बहन से आखिरी बार बात कर रहा है। लगभग एक घंटे बाद अंशु का फोन फिर से बजा उसे लगा कि दीदी ने रूम पहुंचकर लगाया होगा कि मैं उठा कि नहीं।
फोन उठाने पर इंदौर पुलिस थी, जिसने उसकी बहन की मौत की जानकारी दी। यह सुनते ही अंशु बदहवास हो गया और आननफानन फ्लाइट से अपनी बहन के पास पहुंच गया। इसके अलावा सभी रिश्तेदारों को भी जानकारी दी। यह खबर जिसने भी सुनी वह सकते में आ गया।
राखी में घर आ पाई तो ठीक नहीं तो आप लोग आ जाना
निकिता सीए की तैयारी कर रही थी। लेकिन उसमें सफल नहीं होने के कारण वह इंदौर जाकर कंपनी में जॉब करने लगी। लगभग तीन माह पहले ही उसने एक एमएनसी जॉइन की थी। दो माह पहले वह छुट्टियों पर घर भी आई थी। निकिता की मां से उसकी रोज रात को बात होती थी। निकिता को राखी में उसकी मां ने घर आने के लिए कहा था। जिसपर निकिता ने कहा था कि नई कंपनी है यदि छुट्टी मिली तो वह आ जाएगी और नहीं मिली तो आप लोग इंदौर आ जाना।
पिता की खिलौने की दुकान
निकिता के पिता राजकुमार वासवानी की तुलाराम चौक पर राज ट्रेडर्स नाम से खिलौने की दुकान है। इसके अलावा उनके अन्य प्रतिष्ठान भी हैं। राजकुमार की बड़ी बेटी निकिता है जो समझदार और अपने छोटे भाई-बहनों का ख्याल रखती थी। परिजन उसपर विश्वास करते थे और वह अपने परिवार की चहेती थी। यह सूचना जब निकिता के पिता को मिली तो वह कुछ देर के लिए चुप हो गए। उन्होंने निकिता की मां मधु और बहन अंजली को यह बात बताने से इंकार कर दिया।
परिजन को एकत्रित होता देख मधु को हुआ संदेह
सुबह से ही राजकुमार के भाई प्रकाश, प्रमोद और अन्य रिश्तेदार उनके घर पहुंचे, जिन्हें देखकर मधु को संदेह हुआ। मधु ने पूछा भी लेकिन सभी ने बताया कि निकिता का एक्सीडेंट हो गया है। उसके पैर में फ्रैक्चर हो गया है। उसे लेकर आ रहे है।
राजकुमार और उनके 6 भाई के बच्चे आपस में हैं कनेक्ट
राजकुमार के अलावा उनके 6 भाई और हैं। सभी भाइयों के बच्चे आपस में सोशल मीडिया के माध्यम से कनेक्ट हैं। इसमें कुछ बच्चे विदेश में भी हैं, जिसे जैसे खबर मिली वह जबलपुर के लिए रवाना हो गए। शव लेकर वह सभी दोपहर में जबलपुर के लिए रवाना हो गए। देर रात शहर पहुंचेंगे। लेकिन शहर में निकिता के अन्य परिजन इस परेशानी में हैं कि उसकी मां और बहन को कैसे जानकारी दी जाए।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger