वाशिंगटन। अमेरिका के पेंसिल्वेनिया प्रांत में बाल यौन शोषण का बड़ा मामला सामने आया है। इसमें प्रांत के 300 से ज्यादा पादरी घिर गए हैं।
एक जांच रिपोर्ट में आरोप लगाया गया है कि कैथोलिक पादरियों ने सात दशक के दौरान हजारों बच्चों का यौन शोषण किया।
सीएनएन ने मंगलवार को जारी इस रिपोर्ट के हवाले से कहा, 'हमारा मानना है कि पीड़ित बच्चों की वास्तविक संख्या हजारों में हो सकती है।
पादरी कम उम्र के लड़कों और लड़कियों के साथ दुष्कर्म करते रहे और ईश्वर के बंदे जिन पर इनकी जिम्मेदारी थी, उन्होंने कुछ नहीं किया और इन कृत्यों को छुपाए रखा।' यह रिपोर्ट सैकड़ों पेज में है।
पेंसिल्वेनिया के अटार्नी जनरल जोश शापिरो ने करीब दो साल की जांच के बाद यह रिपोर्ट तैयार की थी। लेकिन इसे जारी नहीं किया जा सका था।
कुछ आरोपियों ने यह दलील देकर रिपोर्ट को रोकने का प्रयास किया था कि इससे उनके सम्मान को आघात पहुंचेगा। लेकिन अभियोजकों, पीड़ितों के वकीलों और मीडिया ने दबाव बनाए रखा।
प्रांत के सुप्रीम कोर्ट ने पिछले माह इस रिपोर्ट को जारी करने की मंजूरी दी थी। इस रिपोर्ट में साल 1947 से पेंसिल्वेनिया के छह प्रशासनिक क्षेत्रों एलेनटाउन, एरिक, ग्रीन्सबर्ग, हैरिसबर्ग, पिट्सबर्ग और स्क्रैंटन में पादरियों से
जुड़े बाल शोषण के मामलों की जांच की गई। रिपोर्ट के अनुसार, कुछ मामलों में शराब पिलाकर बच्चों का यौन शोषण किया गया था।

पेंसिल्वेनिया के अटार्नी जनरल जोश शापिरो ने करीब दो साल की जांच के बाद यह रिपोर्ट तैयार की थी। लेकिन इसे जारी नहीं किया जा सका था।
कुछ आरोपियों ने यह दलील देकर रिपोर्ट को रोकने का प्रयास किया था कि इससे उनके सम्मान को आघात पहुंचेगा। लेकिन अभियोजकों, पीड़ितों के वकीलों और मीडिया ने दबाव बनाए रखा।

प्रांत के सुप्रीम कोर्ट ने पिछले माह इस रिपोर्ट को जारी करने की मंजूरी दी थी। इस रिपोर्ट में साल 1947 से पेंसिल्वेनिया के छह प्रशासनिक क्षेत्रों एलेनटाउन, एरिक, ग्रीन्सबर्ग, हैरिसबर्ग, पिट्सबर्ग और स्क्रैंटन में पादरियों से
जुड़े बाल शोषण के मामलों की जांच की गई। रिपोर्ट के अनुसार, कुछ मामलों में शराब पिलाकर बच्चों का यौन शोषण किया गया था।