Home » » आफत की बारिश: यूपी में 3 दिन में 58 की मौत, राहत और बचाव कार्य जारी

आफत की बारिश: यूपी में 3 दिन में 58 की मौत, राहत और बचाव कार्य जारी

लखनऊ। उत्तरप्रदेश में बारिश कहर ढा रही है। पिछले तीन दिनों के भीतर सूबे के 31 जिलों में भारी बारिश और बिजली गिरने से 58 लोगों की मौत हो गई है। सबसे ज्यादा 11 लोग सहारनपुर में मरे हैं। वहीं बारिश से जुड़ी अलग-अलग घटनाओं में 53 लोग घायल हुए हैं।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विभिन्न जिलों में भारी वर्षा से प्रभावित क्षेत्रों में युद्धस्तर पर राहत कार्य संचालित करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि राहत कार्यों में किसी भी प्रकार की शिथिलता और लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। वहीं प्रभावितों को राहत राशि भी बांटी जा रही है। मरने वालों के परिजनों को चार लाख रुपए की सहायता राशि दी जा रही है।
गुरुवार और शुक्रवार को हुई भारी बारिश के कारण आगरा में 4 लोग मौत का शिकार हुए हैं। मेरठ में 5 और कानपुर देहात में एक शख्स को जान गंवानी पड़ी है। हापुड़, गाजियाबाद और बरेली में भारी बारिश की वजह से तीन लोगों की मौत हुई है। वहीं मैनपुरी, कासंगज में 3 और बुलंदशहर, आगरा में दो-दो लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी। इसके अलावा भी सूबे के कई जिलों में बिजली गिरने से भी लोगों की मौत हुई है। 
कुछ जिलों में गरज-चमक के साथ बिजली भी गिरी। फतेहपुर, बांदा, उरई, हमीरपुर, महोबा में, फर्रुखाबाद, कन्नौज, इटावा, औरैया में बदली और बारिश के चलते शुक्रवार को भी मौसम सुहाना बना रहा। कानपुर में शुक्रवार को कुल 5.8 मिमी. बारिश रिकॉर्ड की गई। आगरा में सुबह से ही तेज बारिश होती रही। 24 घंटे में 78 मिमी वर्षा रिकॉर्ड की गई है। शुक्रवार को एक व्यक्ति की जलभराव के चलते तालाब में डूबकर मौत हो गई
वहीं कासगंज में मकान की छत ढह जाने से तीन बच्चों की मौत हो गई। प्रशासन की ओर से इन्हें चार-चार लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की गई है। बारिश में हुए हादसों के चलते मैनपुरी में दूसरे दिन महिला समेत तीन की जान चली गई। फीरोजाबाद के पचोखरा के गांव छिकाऊ में दीवार गिरने से एक बच्ची की मौत हो गई। हजारों बीघा फसल पानी में डूब कर नष्ट हो गई है। मथुरा में यमुना का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। एटा के जसरथपुर क्षेत्र के गांव वीरबनी में मकान की दीवार ढहने से एक घायल हुआ है
मेरठ व सहारनपुर मंडल में शुक्रवार को मूसलाधार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। कई स्थानों पर मकान व दीवार गिरने से पांच लोगों की मौत हो गई जबकि कई लोग घायल हो गए। बारिश के दौरान करंट से एक युवक की जान चली गई। गंगा-यमुना के साथ ही सहायक नदियों का जलस्तर बढऩे से बाढ़ का खतरा उत्पन्न हो गया है। रामराज क्षेत्र में एक तटबंध टूट गया है।
मेरठ में बारिश ने करीब 38 साल का रिकार्ड तोड़ दिया है। रेलवे अंडरपास पर पानी भरने से एक स्कूल बस डूब गई। उसमें सवार बच्चों को किसी तरह ग्रामीणों ने सुरक्षित बाहर निकाला।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger