Home » » मुंडका-बहादुरगढ़ मेट्रो लाइन का पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये किया उद्घाटन

मुंडका-बहादुरगढ़ मेट्रो लाइन का पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये किया उद्घाटन

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 जून रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (वीसी) के जरिये मुंडका-बहादुरगढ़ मेट्रो लाइन जनता को समर्पित किया। गुरुग्राम व फरीदाबाद के बाद मेट्रो से जुड़ने वाला बहादुरगढ़ हरियाणा का तीसरा शहर बन गया है। आज शाम चार बजे से इस लाइन पर मेट्रो सेवा आम जनता के लिए शुरू हो जाएगी।
वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये दिए गए अपने उद्घाटन भाषण में पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि मेट्रो के शुरू होने से बहादुरगढ़ में औद्योगिक विकास को बल मिलेगा। पीएम ने कहा कि पहले मेट्रो के लिए ठोस नीति नहीं थी। सरकारों और नेताओं की मर्जी के कारण इसमें विखराव था। 2017 में देश की पहली मेट्रो पॉलिसी बनाई है। उन्होंने कहा उनकी सरकार देश के नागरिकों को सुशासित व्यवस्था देने पर काम कर रही है। नए भारत में सभी यातायात साधनों, बिजली पर अत्यधिक खर्च करके सारे प्रोजेक्ट पूरे किए जा रहे हैं।
देश के ट्रांसपोर्ट सिस्टम से प्रगति होगी, 21वीं सदी में व्यवस्था मजबूत होगी। इससे लोगों का जीवन आसान होगा। उन्होंने कहा कि सरकार के इन प्रयासों में आमजन की भागीदारी आवश्यक है। नए भारत के लिए सभी को मिलकर प्रयास करने होंगे। उन्होंने बहादुरगढ़ में मेट्रो सेवा शुरू होने पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल को बधाई दी।उद्घाटन कार्यक्रम बहादुरगढ़ के सिटी पार्क मेट्रो स्टेशन पर आयोजित किया गया, जिसमें हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल, केंद्रीय शहरी विकास राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी सहित कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ और विधायक नरेश कौशिक उपस्थित रहे। 11.183 किमी लंबी यह मेट्रो लाइन ग्रीन लाइन का विस्तार है। हरियाणा में बहादुरगढ़ शहर का मेट्रो से जुड़ाव होने के बाद यातायात की सुगम राह लोगों के लिए खुल गई है।
इस लाइन की डेडलाइन शुरू में मार्च 2016 थी, मगर अब जाकर यह पूरी हो पाई है। सिटी पार्क से हर आठ मिनट के अंतराल में मेट्रो उपलब्ध होगी। 50 मिनट में यहां से इंद्रलोक पहुंचा जा सकेगा।
कई साल से था इंतजार - 
एनसीआर में सोनीपत और गुरुग्राम व फरीदाबाद के बीच पड़ने वाले गेट-वे ऑफ हरियाणा बहादुरगढ़ को मेट्रो का कई साल से इंतजार था। वैसे तो मेट्रो के साथ ही एक और बड़ी सौगात इस क्षेत्र को एक्सप्रेस हाईवे के रूप में कुछ माह बाद मिलने वाली है। मगर मेट्रो के जरिये दिल्ली से कनेक्टिविटी लोगों का लाइफ स्टाइल बदलेगी।
प्रदूषण से बचने का मिलेगा विकल्प - 
दिल्ली में आज प्रदूषण की कैसी स्थिति है, इससे शायद आज कोई अनजान नहीं। इसके विपरीत बहादुरगढ़ में प्रदूषण ज्यादा नहीं है। मगर मजबूरी के चलते लोग वहां पर अस्थायी ठिकानों पर रह रहे हैं। बहादुरगढ़ तक मेट्रो आने के बाद वहां के लोगों को प्रदूषण से दूरी बनाकर बहादुरगढ़ में रहने का विकल्प भी मिलेगा।
दिल्ली से होगा सीधा जुड़ाव - 
अब बहादुरगढ़ भी मेट्रो की सुविधा वाला शहर हो गया है। इससे दिल्ली का सीधा जुड़ाव होगा। हरियाणा में गुरुग्राम व फरीदाबाद के बाद बहादुरगढ़ तक भी मेट्रो के जरिये सफर हो पाएगा। अब तक तो लोग मुंडका पहुंचकर मेट्रो के जरिये दिल्ली के इंद्रलोक व कीर्तिनगर पहुंचते थे, मगर अब सीधे बहादुरगढ़ से ही मेट्रो की सवारी होगी और आगे ब्लू लाइन की यात्र कर सकेंगे।
हर आठ मिनट में मिलेगी मेट्रो, 50 मिनट में पहुंचेंगे इंद्रलोक - 
सिटी पार्क से हर आठ मिनट में मेट्रो मिलेगी। यहां से इंद्रलोक तक 50 मिनट में पहुंचा जा सकेगा। इस पर सात स्टेशन हैं। सभी एलिवेटेड हैं। दिल्ली में मुंडका औद्योगिक क्षेत्र, घेवरा, टिकरी कलां, टिकरी बॉर्डर तथा हरियाणा के बहादुरगढ़ में मॉडर्न इंडस्ट्रियल एस्टेट, बस स्टैंड, सिटी पार्क हैं। यह इंद्रलोक-मुंडका ग्रीन लाइन का विस्तार है। स्टैंडर्ड गेज में यार इस लाइन पर ग्रीन और वायलट लाइनों की तरह रोलिंग स्टॉक ट्रेन रहेगा।
यह मिलेगा फायदा - 
मुंडका-बहादुरगढ़ खंड बहादुरगढ़ शहर को पश्चिमी दिल्ली के बॉर्डर इलाकों से जोड़ने की दृष्टि से अत्यधिक महत्वपूर्ण है। बहादुरगढ़ एक विकासशील नगर है। जहां कई औद्योगिक यूनिट भी हैं। इसी प्रकार, मुंडका में भी एक औद्योगिक क्षेत्र है जहां कई लोग अपनी व्यवसायिक आवश्यकताओं के लिए प्रतिदिन यात्रा करते हैं। यह कॉरीडोर इन लोगों के लिए काफी मददगार होगा। यह खंड दिल्ली मेट्रो का गुरुग्राम और फरीदाबाद के बाद हरियाणा में तीसरा विस्तार है। हरियाणा में दिल्ली मेट्रो लाइंस का 21 किमी से अधिक लंबा मार्ग है। इस खंड के शुरू होने से हरियाणा में दिल्ली मेट्रो खंड का विस्तार किमी लंबा हो जाएगा।
ये हैं तकनीकी खासियत - 
बहादुरगढ़ में बस स्टैंड मेट्रो स्टेशन की इंटरस्टेट बस टर्मिनल से निर्बाध कनेक्टिविटी है जो हरियाणा के अन्य क्षेत्रों को कनेक्टिविटी प्रदान करता है। टिकरी कलां और एमआइए स्टेशन पर 440 केवीए और 220 केवीए की दो इलेक्ट्रिक लाइन्स को 60 मीटर की ऊंचाई तक ऊपर किया गया। इन पावर लाइन्स की ऊंचाई बढ़ाने के लिए लैटिस स्ट्रर के बजाय भारत में पहली बार 60 मीटर की ऊंचाई के विशेष रूप से डिजाइन किए गए मोनोपोल को खड़ा किया गया।
मुंडका इंडस्ट्रीयल एरिया स्टेशन का निर्माण व्यस्त एन एच-10 पर एकीकृत स्टेशन के रूप में की गई है जिसमें भविष्य में ग्रीन लाइन से होकर मेट्रो ट्रैक की व्यवस्था रखी गई है। ग्रीनलाइन के एम आई ए स्टेशन के रेल स्तर को सतह (ग्राउंड लेवल) से 22 मीटर ऊंचा रखा गया है। एन एच-9 पर यातायात को बाधित किए बिना एमआईए के स्टेशन का निर्माण किया गया।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger