Home » » पुलवामा मुठभेड़ में सीआरपीएफ कर्मी शहीद, आतंकी ठिकाना बने दो मकान क्षतिग्रस्त

पुलवामा मुठभेड़ में सीआरपीएफ कर्मी शहीद, आतंकी ठिकाना बने दो मकान क्षतिग्रस्त

श्रीनगर। शनिवार की सुबह दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हो गया। इस दौरान क्रासफायरिंग में एक नागरिक के जख्मी होने के अलावा दो मकान भी क्षतिग्रस्त हो गए। अलबत्ता, आतंकी घेराबंदी तोड़ भागने में कामयाब रहे। उन्हें पकड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने पूरे इलाके में घेराबंदी करते हुए तलाशी अभियान चला रखा है।
पुलवामा से मिली जानकारी के अनुसार, टाकिया-वागम इलाके में तीन से चार आतंकी बीती रात आए थे। इसका पता चलते ही आधी रात के बाद सेना की 55 आरआर,एसओजी और सीआरपीएफ के एक संयुक्त कार्यदल ने गांव की घेराबंदी कर ली।
आज तड़के करीब एक बजे जवानों ने जैसे ही आतंकी ठिकाना बने मकान की तरफ आगे बढ़ने का प्रयास किया तो आतंकियों को पता चल गया। उन्होंने जवानों पर पहले ग्रेनेड फेंके और उसके बाद उन्होंने अपने स्वचालित हथियारों से फायरिंग की। जवानों ने भी तुरंत अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायर किया। इसके बाद वहां मुठभेड़ शुरू हो गई।
इसमें सीआरपीएफ की 182वीं वाहिनी का एक जवान मनदीप सिंह गंभीर रुप से घायल हो गया। उसे उसी समय श्रीनगर स्थित सेना के 92बेस अस्पताल में उपचार के लिए लाया गया। आतंकियोंऔर सुरक्षाबलों के बीच क्रासफायरिंग की चपेट में आकर एक स्थानीय नागरिक बशीर अहमद भी जख्मी हो गया। उसके कंधे पर गोली लगी है और वह अस्पताल में उपचाराधीन है। बताया जाता है कि मुठभेड़ के दौरान जब वह अपने घर से बाहर भाग रहा था तो उस समय वह जख्मी हुआ है।
गांव में गोलियों की गूंज से लोग जाग उठे। कुछ ही देर में स्थानीय ग्रामीणों ने नारेबाजी करते हुए मुठभेड़ स्थल की तरफ मार्च भी शुरू कर दिया और सुरक्षाबलों पर पथराव शुरू हो गया। सुरक्षाबलों ने आतंकियों क गोलियों का जवाब देते हुए हिंसक भीड़ पर भी काबू पाने का प्रयास किया।
बताया जाता है कि आतंकियों ने जिन दो मकानों में ठिकाना बना रखा था,उनमें सवा तीन बजे के करीब अचानक जोरदार धमाके हुए और दोनों मकानों में आग लग गई। दमकल कर्मियों को आग बुझाने के लिए बुलाया गया, लेकिन तब तक पथराव कर रही भीड़ भी बहुत बड़ गई थी।
सुरक्षाबलों ने अनावश्यक जनक्षति से बचने के लिए जैसे ही कुछ देर के लिए आतंकियों पर अपनी फायरिंग रोकी, आतंकी पथराव की आड़ में भाग निकले।
इस बीच, अस्पताल में उपचाराधीन सीआरपीएफ कर्मी ने अपने जख्मों की ताव न सहते हुए दम तोड़ दिया। 
एसएसपी पुलवामा मोहम्मद असलम चौधरी ने बताया कि गांव में हमें आम लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कुछ देर के लिए अपना अभियान स्थगित करना पड़ा। इसका फायदा ले आतंकी वहां से निकल गए। मुठभेड़ में सीआरपीएफ का एक जवान शहीद हुआ है और दो मकानों को भी क्षति पहुंची है।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger