Home » » मेरी वजह से किसी कार्यकर्ता को सिर नहीं झुकाना पड़ेगा : कमलनाथ

मेरी वजह से किसी कार्यकर्ता को सिर नहीं झुकाना पड़ेगा : कमलनाथ


भोपाल। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का पदभार संभालने के बाद कांग्रेस मुख्यालय पर आयोजित सभा में कमलनाथ ने खुद को बेदाग बताया। कमलनाथ ने कहा कि मेरा संबंध न डंपर से है, न रेत से है। मेरा संबंध न शराब से है, न सट्टा से है। इतने बड़े राजनीतिक जीवन में आज तक मेरे ऊपर एक भी कोर्ट केस नहीं है। उन्होंने कहा कि कभी किसी कांगे्रसी को मेरी वजह से सिर नहीं झुकाना पड़ा।
उन्होंने भाजपा हटाओ, मप्र बचाओ का नारा भी दिया। प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर पहले ही दिन शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कमलनाथ ने कहा कि मप्र की इतनी बुरी स्थिति कभी नहीं देखी। जहां हर वर्ग परेशान है। किसान को दाम नहीं मिल रहे, युवाओं के लिए रोजगार नहीं है। व्यापारी परेशान हैं। उन्होंने कहा कि किसान का बेटा कहने वाले मुख्यमंत्री ने ही सबसे ज्यादा किसानों को अपमानित किया। खुद को बच्चों का मामा बताने वाले मुख्यमंत्री के समय सबसे ज्यादा महिला अत्याचार मप्र में है। यह मप्र की सबसे भ्रष्ट सरकार है।
ओवर कॉन्फिडेंस में न रहें
कमलनाथ ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं से कहा कि कार्यकर्ता अति आत्मविश्वास में न रहें। इससे धोखा हो सकता है। अरुण यादव की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि यादव ने तब कांग्रेस को संभालकर और बनाकर रखा, जब सब सोचते थे कि कांग्रेस खत्म हो गई।
इंदिरा और संजय गांधी को भी किया याद
कमलनाथ ने अपने भाषण में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और उनके बेटे संजय गांधी को भी याद किया। उन्होंने कहा कि जब इंदिरा गांधी की सरकार नहीं थी तो हमने खूब संघर्ष किया और जेल गए। उन्होंने कहा कि इंदिरा, संजय जेल गए थे और कमलनाथ भी जेल गए थे।
मैंने फसल तैयार कर दी, नया नेतृत्व काट ले: यादव
कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव ने कहा कि हम सभी नेता साथ मिलकर भाजपा की भ्रष्ट निकम्मी सरकार को उखाड़ फेकेंगे। अपने कार्यकाल के बारे में यादव ने कहा कि मैं किसान हूं। जमीन पर बक्खर फेरने, बोवनी करने का काम हो गया है। मैंने फसल तैयार कर दी है, नया नेतृत्व इस फसल को काटेगा।
हाथ का पंजा ही उम्मीदवार होगा : दिग्विजय
पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि हर सीट पर दस-दस उम्मीदवार चुनाव लड़ने के लिए दावेदार हो सकते हैं, लेकिन मौका एक को ही मिलेगा। इसलिए यह मानकर चलें कि उम्मीदवार पंजा होगा। उन्होंने कमलनाथ से कहा कि पार्टी के काम में बाधा डालने वाले पर सख्त कार्रवाई करें। भाजपा सरकार ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर झूठे मुकदमे दायर किए हैं, उन कार्यकर्ताओं की भी देखभाल करें। सबको साथ लेकर चलना आपकी जवाबदारी है।
कार्यकर्ताओं की ढाल और तलवार बनूंगा : सिंधिया
चुनाव अभियान समिति के अध्यक्ष बनाए गए सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मंच से कमलनाथ की खूब तारीफ की। उन्होंने कहा कि कमलनाथ ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के पद को सुशोभित किया है। भाजपा सरकार पर निशाना साधते उन्होंने कहा कि 14 साल में प्रदेश बेहाल हुआ है और भाजपा कार्यकर्ता मालामाल हो गए। उन्होंने कहा कि आने वाले छह महीनों में मैदान में खूब मेहनत करना है। जहां कार्यकर्ताओं का पसीना टपके, वहां नेताओं का खून टपकना चाहिए। मैं कार्यकर्ताओं की ढाल और तलवार बनूंगा। सभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, कांतिलाल भूरिया, कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी दीपक बाबरिया, पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी भी मौजूद थे।
सिंधिया ने पिलाया नारियल पानी
चिलचिलाती धूप में नेताओं के लगातार खड़े रहने से बार-बार उन्हें प्यास लग रही थी। कभी लोग उन्हें पानी की बोतल फेंक कर दे रहे थे तो कभी शीतल पेय की छोटी बोतलें पहुंचा रहे थे। इमामी गेट के पास एक समर्थक ने सिंधिया को नारियल पानी दिया था। सिंधिया ने नारियल को अपने हाथ में लिया और स्ट्रॉ कमलनाथ को दे दी। जब उन्होंने नारियल पानी पी लिया तो शेष में से कुछ उन्होंने पिया और बाकी आरिफ अकील को दे दिया।
कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट
रैली पूरी होने के बाद जब कमलनाथ प्रदेश कांग्रेस कार्यालय पर होने वाली सभा के लिए मंच पर पहुंचे तो इस दौरान दो कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट हो गई। सभी कांग्रेस नेताओं के साथ उनके समर्थक भी प्रदेश कार्यालय पहुंचे थे और समर्थकों में मंच के करीब जाने की होड़ लग गई। इस दौरान मंच के आसपास भारी अव्यवस्था फैल गई। पुलिस कर्मियों के साथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं की धक्का-मुक्की हुई।
अजय सिंह के यहां चाय पर पहुंचे नाथ
मप्र कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ मंगलवार को नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह के निवास पर चाय पर पहुंचे। उनके साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, सांसद कांतिलाल भूरिया, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव, बाला बच्चन, रामनिवास रावत, सुरेंद्र चौधरी, जीतू पटवारी और विधानसभा उपाध्यक्ष डॉ. राजेंद्र सिंह भी पहुंचे। कमलनाथ ने कहा कि रैली में विधायक आरिफ अकील ने मेरे कान में कहा 'आप थक तो नहीं गए।" मैंने उन्हें कहा कि मैं कार्यकर्ताओं के प्यार व जनता के स्नेह के कारण थकता नहीं हूं, मेरी सिक्युरिटी वाले थक जाते हैं।
जाम में फंसे मरीज नाम से
कमलनाथ की रैली के कारण रेतघाट पर लगे ट्रैफिक जाम में श्यामला हिल्स स्थित कच्चे बंगले की झुग्गीबस्ती में एक मरीज सोनू भरत भी फंस गए। बस और टेम्पो नहीं मिलने से सोनू एक हाथ में यूरिन बैग लेकर अपनी पत्नी के साथ पैदल ही रेतघाट, कमला पार्क होते हुए घर गए। उसने बताया कि पैदल चलने से उसे और ज्यादा परेशानी हुई।
यादव को साथ लेकर पीसीसी पहुंचे तन्खा
मप्र कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव विमानतल पर नवनियुक्त अध्यक्ष कमलनाथ को लेने पहुंचे थे, लेकिन इसके बाद वे रैली में शामिल नहीं हुए और अपने निवास पर पहुंच गए। जब करीब ढाई बजे रैली मोती मस्जिद के समीप पहुंची तो सांसद विवेक तन्खा ने भी रैली को छोड़ दिया। वहां से वे यादव के निवास पहुंचे जहां, उनसे बातचीत की। वहां से दोनों पीसीसी के लिए साथ रवाना हुए। सूत्र बताते हैं कि यादव कमलनाथ के पदभार ग्रहण की सभा में शामिल नहीं होना चाहते थे। इसकी भनक पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को लगी। इसलिए उन्होंने तन्खा को यादव के पास भेजा था।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger