Home » » 435 का रिकॉर्ड लक्ष्य: इन शब्दों ने द. अफ्रीका को दिलाई थी चमत्कारिक जीत

435 का रिकॉर्ड लक्ष्य: इन शब्दों ने द. अफ्रीका को दिलाई थी चमत्कारिक जीत

मल्टीमीडिया डेस्क। वनडे क्रिकेट में 435 रनों का लक्ष्य हासिल करने के बार में कोई सपने में भी नहीं सोच सकता था, लेकिन दक्षिण अफ्रीका ने ठीक 12 साल पहले (12 मार्च 2006) जोहान्सबर्ग में इस चमत्कार को हासिल कर दिखाया था। जोहान्सबर्ग के वाण्डरर्स मैदान पर जब ऑस्ट्रेलिया ने पांचवें वनडे में 4 विकेट पर रिकॉर्ड 434 रन बनाए तो दक्षिण अफ्रीका की हार तय लग रही थी।
आधे से ज्यादा फैंस तो लंच ब्रेक में ही घर लौट गए थे, लेकिन इसके बाद द. अफ्रीका की पारी में जो कुछ भी हुआ वह इतिहास में दर्ज हो गया। इस जीत का श्रेय हर्शल गिब्स के तूफानी शतक को जाता है, लेकिन एक दिग्गज के चंद शब्दों ने टीम में जीत का जोश भर दिया था।
प्रोटिज टीम ने 1 गेंद शेष रहते 9 विकेट खोकर इस असंभव से लक्ष्य को हासिल कर लिया। फैंस जहां दक्षिण अफ्रीका की इस जीत पर यकीन नहीं कर पा रहे थे, वहीं ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए इतने बड़े स्कोर को बनाने के बाद मिली हार को पचा पाना आसान नहीं था।
हर्शल गिब्स द्वारा हैंगओवर के दौरान खेलकर बनाई गई 175 रनों की तूफानी पारी को इस जीत का श्रेय दिया जाता है, ले‍किन वास्तव में ब्रेक के दौरान इतने बड़े स्कोर को लेकर मेजबान टीम भी पूरी तरह हिली हुई थी। ड्रेसिंग रूम में सन्नाटा पसरा हुआ था क्योंकि सभी खिलाड़‍ियों के चेहरे बोझिल थे, इसी दौरान एक दिग्गज ने कुछ ऐसे शब्द बोले, जिसने टीम में जीत का जोश भर दिया।
विकेटकीपर मार्क बाउचर ने अपनी आत्मकथा 'बाउच: थ्रू माय आईज' में इस बात का खुलासा किया है। उन्होंने लिखा, खामोशी को तोड़ते हुए जैक्स कैलिस ने कहा, साथियों मुझे लगता है कि गेंदबाजों ने अपना काम कर‍ दिया। यह 450 रनों की पिच है और ऑस्ट्रेलियाई टीम ने 15 रन कम बनाए। अब सब कुछ बल्लेबाजों पर निर्भर करेगा।'
संभावित करारी हार की आशंका से गम में डूबा ड्रेसिंग रूम अचानक हंसी के ठहाकों से गूंज उठा। खिलाड़‍ियों में भी सकारात्मक उर्जा का संचार हुआ और सबने सोचा कि हारने के लिए अपने पास कुछ नहीं है तो क्यों न जीत की कोशिश की जाए। इसके बाद तो सबकुछ रिकॉर्ड बुक में दर्ज हो गया।
बोएटा डिपेनार (1) का विकेट सस्ते में गंवाने के बाद गिब्स और कप्तान ग्रीम स्मिथ (90) ने दूसरे विकेट के लिए 21 से भी कम ओवरों में 187 रन जोड़े। स्मिथ शतक चूके, लेकिन गिब्स का तूफान जारी रहा और चौकों-छक्कों की बारिश होती रही।
वे 111 गेंदों में 21 चौकों और 7 छक्कों की मदद से 175 रन बनाकर जब आउट हुए तब मेजबान टीम ने 32 ओवरों के अंदर 299 रन बना लिए थे। अब जीत नजर आ रही थी। इसके बाद स्कोर बराबर हो चुका था, दो गेंदों में जीत के लिए 1 रन चाहिए था और अंतिम जोड़ी क्रीज पर थी ऐसे में मार्क बाउचर ने चौका लगाते हुए स्कोर 438 कर दिया और द. अफ्रीका ने रिकॉर्ड जीत दर्ज की।
इससे पहले ऑस्ट्रेलिया ने कप्तान रिकी पोंटिंग के धमाकेदार शतक (164) और माइक हसी (82), साइमन कैटिच (79) और एडम गिलक्रिस्ट (55) के अर्द्धशतकों से 4 विकेट पर 434 रन बनाए थे।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger