Madhya Pradesh Tourism

Home » » 2018: जानें कौन से देश हैं इनकम टैक्स की दरों के मामले में भारत से आगे

2018: जानें कौन से देश हैं इनकम टैक्स की दरों के मामले में भारत से आगे

नई दिल्ली।आम बजट के नजदीक आते ही लोगों को राहतभरी खबरों का बड़ी बेसब्री से इंतजार रहता है। इसमें भी एक शब्द सबके जेहन में कौधता रहता है और वह है इनकम टैक्स।
करदाताओ को उम्मीद रहती है कि सरकार इनकम टैक्स की सीमा को बढ़ाएगी, लेकिन कई देश ऐसे भी है, जहां भारत की अपेक्षा ज्यादा इनकम टैक्स लिया जाता है। फिलहाल हमारे देश में टैक्स की अधिकतम सीमा 30 फीसद की है। आइए जानते हैं दुनिया के किन देशों में लगता है कितना है इनकम टैक्स।
अमेरिका- अमेरिका में पर्सनल इनकम टैक्स रेट का मतलब किसी व्यक्तिगत करदाता के लिए 406751 डॉलर से ऊपर की आय पर लगने वाले टॉप मार्जिनल फेडरल टैक्स रेट से होता है। करदाता पर अतिरिक्त राज्य टैक्स भी लग सकता है।
अमेरिका में पर्सनल इनकम टैक्स रेट 39.60 फीसद है। ट्रेडिंग इकोनॉमिक्स के अनुसार औसतन पर्सनल इनकम टैक्स रेट वर्ष 2004 से वर्ष 2016 तक 36.42 फीसद रही थी। वर्ष 2013 में इसने 39.60 फीसद का रिकॉर्ड हाई और वर्ष 2005 में 35 फीसद का रिकॉर्ड लो स्तर छुआ।
चीन- चीन में किसी भी व्यक्ति पर लगने वाला टैक्स उसकी आय की श्रेणी के आधार पर तय किया जाता है। चीन के आईआईटी कानून ने निजी आय को 11 श्रेणियों में विभाजित किया हुआ है। इनमें इंप्लॉयमेंट इनकम, रॉयल्टी इनकम, रेंटल इनकम आदि शामिल हैं।
किसी भी व्यक्ति पर लगाया जाने वाला पर्सनल इनकम टैक्स रेट 45 फीसद है। विभिन्न आय के स्त्रोत जैसे श्रम, पेंशन, ब्याज और लाभांश पर लगने वाला टैक्स वर्ष 2003 से वर्ष 2016 तक 45 फीसद था। चीन को नवंबर 2017 में पर्सनल इनकम टैक्स से 84.6 बिलियन युआन का राजस्व प्राप्त हुआ।
जापान- जापान में पर्मानेंट रेजिडेंट टैक्सपेयर पर वर्ल्डवाइड इनकम के आधार पर टैक्स लगाया जाता है। जो नॉन रेजिडेंट टैक्सपेयर्स होते हैं उनपर जापान से हुई आय पर ही टैक्स लगाया जाता है।
जापान के नॉन रेजिडेंट टैक्सपेयर की जापान में हुई कमाई पर टैक्स देनदारी बनती है, साथ ही जापान के बाहर हुई उनकी कमाई जिसका भुगतान जापान के भीतर या बाहर किया गया है पर भी टैक्स लगाया जाता है। जापान में इनकम टैक्स 1,950,000 येन या उससे ऊपर की आय पर लगता है।
जापान में पर्सनल इनकम टैक्स रेट 55.95 फीसद रहा है। वर्ष 2004 से वर्ष 2016 तक यह औसतन 50.65 फीसद रहा है। वर्ष 2016 में इनकम टैक्स इनकम टैक्स ने 55.95 फीसद का उच्चतम और वर्ष 2005 में 50 फीसद का निम्नतम स्तर छुआ था।
जर्मनी- सभी रेजिडेंट व्यक्तियों पर 8820 यूरो या उससे ज्यादा की वर्ल्डवाइड इनकम पर टैक्स लगाया जाता है। टैक्सेबल इनकम में कृषि और वानिकी, ट्रेड या व्यापार, स्वतंत्र प्रोवेशन, रोजगार, कैपिटल निवेश, किराया, रॉयल्टी और अन्य आय स्त्रोत शामिल हैं।
ट्रेडिंग इकोनॉमिक्स के मुताबिक जर्मनी में पर्सनल इनकम टैक्स रेट 47.50 फीसद है। यह वर्ष 1995 से वर्ष 2016 तक औसतन 50.06 फीसद रहा है। इसका रिकॉर्ड हाई वर्ष 1996 में 57 फीसद और रिकॉर्ड लो वर्ष 2000 में 44.30 फीसद रहा है।
इटली- इटली में करदाता पर नेशनल इनकम टैक्स या पर्सनल इनकम टैक्स, रीजनल इनकम टैक्स और म्युनिसिपल इनकम टैक्स जैसे आयकर लगते हैं। नेशनल इनकम टैक्स सभी आय पर प्रोग्रेसिव (प्रगतिशील) टैक्स रेट पर लगाया जाता है। जबकि रीजनल और म्युनिसिपल टैक्स आवासीय जगह और वहां की म्युनिसिपालिटी पर निर्भर करता है।
इटली में पर्सनल इनकम टैक्स रेट 48.80 फीसद के स्तर पर है। वर्ष 1995 से वर्ष 2016 तक यह औसतन 46.84 फीसद रहा है। इसका रिकॉर्ड हाई वर्ष 1996 में 51 फीसद और रिकॉर्ड लो वर्ष 2005 में 44.10 फीसद रहा है।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger