Home » » 'पद्मावत' को पाकिस्तान में 'यू' सर्टिफिकेट, हल्का विरोध भी

'पद्मावत' को पाकिस्तान में 'यू' सर्टिफिकेट, हल्का विरोध भी

संजय लीला भंसाली की ‘पद्मावत' को भारत में खासी दिक्कत हो रही हो लेकिन पड़ोसी देश में यह आसानी से रिलीज हो रही है। वहां तो इस 'यू' सर्टिफिकेट के साथ लगाया जा रहा है।
पाकिस्तान के कुछ वितरकों ने इसका बात का जरूर विरोध किया है कि अलाउद्दीन खिलजी की इस फिल्म में नेगेटिव इमेज दर्शायी गई है। पाकिस्तान के साथ यह फिल्म कई और देशों में रिलीज हुई है।
यह आज पूरे भारत में तो नहीं, कई प्रदेशों में जरूर रिलीज हुई है। जहां यह रिलीज नहीं हुई है, वे बड़े प्रदेश हैं तो कमाई में खासा असर पड़ेगा। इंदौर, भोपाल, अहमदाबाद, बड़ौदा, जयपुर जैसे तमाम बड़े शहरों से यह गायब है। कर्नाटक बंद का भी इस पर असर पड़ेगा। यहां शाम को शो शुरू होने वाले हैं।
बता दें कि विरोध अब भी जारी है, हिंसा बढ़ी है, सबसे ऊपरी अदालत अपनी बात पर कायम है कि राज्य क़ानून व्यवस्था को बनाये रखते हुए 'पद्मावत' को रिलीज़ करें। लेकिन वितरक और मल्टिप्लेक्स ही इसे लगाने से बच रहे हैं।
कहा जा रहा है कि पहले दिन इसकी कमाई 25 करोड़ छू सकती है। अगर शाम तक माहौल में शांति रही तो भीड़ बढ़ेगी और कमाई 30 करोड़ को पार कर सकती है।

करीब दो घंटे 43 मिनट की पद्मावत, जायसी के आधार और भंसाली की सिनेमेटिक सोच का मिश्रण मानी जा रही है। साल 2015-16 में जब पद्मावत अपने स्क्रिप्ट रूप में आ रही थी तो संजय लीला भंसाली प्रोडक्शन ने इसके बजट का जोड़-तोड़ शुरू किया था। भंसाली, मैग्नम-ओपस बनाते हैं तो उसके लिए बजट भी बहुत बड़ा चाहिए। पहले एक बड़े प्रोडक्शन हाउस ने पद्मावत (तब पद्मावती) में पैसा लगाने का फ़ैसला किया था लेकिन बाद में पैर पीछे खींच लिए। इसके बाद वायकॉम 18 आगे आया। तब फिगर आय 180 करोड़ रुपए, इसमें प्रिंट और पब्लिसिटी के 25 करोड़ रुपए शामिल नहीं है। लेकिन फिल्म के टल जाने के कारण अब लागत पर और बोझ आ गया है और माना जा रहा है कि कॉस्टिंग 200 करोड़ रुपए से भी आगे जा सकती है। 'पद्मावत' को हिंदी के साथ तमिल और तेलुगु भाषाओं में भी रिलीज़ किया जा रहा है। भारत में हिंदी के लिए साढ़े चार हजार स्क्रीन्स और अन्य भाषाओं व ओवरसीज को मिलकर 'पद्मावत' करीब 6000 स्क्रीन्स पर रिलीज़ होगी।
'पद्मावत' को लंबा वीकेंड मिला है। गुरुवार को रिलीज़ हो रही इस फिल्म को 26 जनवरी की छुट्टी और फिर वीकेंड का आसरा है।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger