Home » » 4 दिनों से सरहद पर भारी गोलाबारी जारी, पाक के 10 रेंजर्स ढेर

4 दिनों से सरहद पर भारी गोलाबारी जारी, पाक के 10 रेंजर्स ढेर

जम्मू। बीते चार दिनों से अंतरराष्ट्रीय सीमा से लेकर नियंत्रण रेखा तक पाकिस्तान की तरफ से जारी गोलाबारी के जवाब में एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए भारत द्वारा पाकिस्तान के 10 रेंजरों को मार गिराये जाने की सूचना है। पाकिस्तान की दो मोर्टार चौकियों के भी तबाह होने की सूचना है। इसी के साथ पाकिस्तान की गोलीबारी में शनिवार को पुंछ जिले की कृष्णा घाटी में एक सैनिक शहीद हो गया, जबकि आरएसपुरा सेक्टर में दो और कानाचक्क सेक्टर में एक नागरिक की मौत हो गई और 21 लोग घायल भी हो गए।
पाकिस्तान के उप उच्चायुक्त को तलब कर लगाई गई फटकार के बावजूद पाकिस्तानी रेंजरों ने शनिवार लगातार चौथे दिन भी जम्मू संभाग में अंतरराष्ट्रीय सीमा से लेकर नियंत्रण रेखा तक भारी गोलाबारी जारी रखी। पाकिस्तान ने 19 सेक्टरों को निशाना बनाकर करीब 60 चौकियों और 120 से अधिक गांवों पर गोले दागे।
पाकिस्तानी गोलाबारी में सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के एक जवान पंजाब के मनदीप सिंह पुत्र गुरुनाम सिंह निवासी आलमपुर जिला संगरूर शहीद हो गए और तीन नागरिकों की मौत हो गई। 21 लोग घायल भी हुए हैं। पिछले चार दिनों में पांच जवानों की शहादत सहित कुल 11 लोग पाकिस्तानी गोलाबारी में अपनी जान गंवा चुके हैं और करीब 55 घायल हुए हैं।
पाकिस्तान की इस हरकत का सीमा सुरक्षा बल ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया। सीमा पार पाकिस्तान के 10 रेंजरों की मौत व दो मोर्टार चौकियों के तबाह होने की सूचना है, लेकिन इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है। शनिवार को कठुआ जिले के हीरानगर सेक्टर में गोलाबारी नहीं हुई, अरनिया सेक्टर में भी सुबह गोलाबारी के बाद दोपहर को शांति रही।
लेकिन, कानाचक्क, आरएसपुरा और अखनूर सेक्टर में पाकिस्तान ने गोलों की बरसात कर दी। दिनभर इन सेक्टरों में लोगों के घरों पर गोले गिरते रहे, जिनकी आवाज शहर तक सुनाई देती रही। इस दौरान आरएसपुरा सेक्टर में मोर्टार गिरने से 15 वर्षीय किशोर गारा राम व गार सिंह की मौत हो गई और नौ लोग घायल हो गए।
इस बीच, कानाचक्क सेक्टर में भी मोर्टार गिरने से तरसेम सिंह की मौत हो गई व छह लोग घायल हो गए। अखनूर सेक्टर में भी छह लोग घायल हुए। कानाचक्क में गोलाबारी में एसएसबी का एक जवान लालू राम पुत्र सिया राम निवासी उत्तर प्रदेश घायल हो गया। यहां पाकिस्तान ने पूरी रात गोलाबारी जारी रखी। गड़खाल में एक गोला एंबुलेंस पर गिरा, जिससे वह क्षतिग्रस्त हो गई। इसके अलावा सीमा पर कई घरों व वाहनों को भी नुकसान पहुंचा है। मवेशी भी मारे गए हैं। अखनूर सेक्टर के परगवाल, गडखाल व अन्य क्षेत्रों को सुरक्षा के लिहाज से सील कर दिया गया है।
उधर, नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तानी सेना ने उपजिला नौशहरा के लाम, कलसिया, भवानी, झंगड़, कलाल सेक्टर के साथ राजौरी के मंजाकोट, केरी व गंभीर सेक्टर में भारी गोलाबारी की। पुंछ के कालाकोट, तरकुंडी, हमीरपुर, बीजी, शाहपुर किरनी व कृष्णा घाटी सेक्टर में भी पाकिस्तानी मोर्टार गिरते रहे। पाकिस्तानी गोलाबारी को देखते हुए सीमा से पांच किलोमीटर के दायरे में आने वाले सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं और प्रशासन द्वारा लोगों को अपने घरों में ही रहने को कहा गया है।
लोगों का पलायन जारी-
पाकिस्तानी गोलाबारी के चलते सीमावर्ती क्षेत्रों से लोगों का पलायन जारी है। अरनिया, सई खुर्द, पिंडी चाढ़का, त्रेवा, चक्क गोरिया, चंगिया, चानना, जबोबाल सहित कई गांवों से लोग पलायन कर गए हैं। सीमांत क्षेत्रों से अब तक करीब 40 हजार लोग घर छोड़कर राहत शिविरों व अपने रिश्तेदारों के घरों में चले गए हैं।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger