Home » » दार्जिलिंगः बंद का व्यापक असर, शव के साथ सड़क पर उतरे GJM समर्थक

दार्जिलिंगः बंद का व्यापक असर, शव के साथ सड़क पर उतरे GJM समर्थक

सिलीगुड़ी। अलग राज्य गोरखालैंड आंदोलन की आग में लगातार सात दिनों से हिल्स अनिश्चितकालीन बंद है। फंसे हुए पर्यटक वहां से निकल नहीं पा रहे हैं। पुलिस फायरिंग और अलग राज्य गोरखालैंड की मांग पर डुवार्स में 12 घंटे का बंद गोजमुमो ने बुलाया है। सभी जगहों से पुलिस फायरिंग की न्यायिक या सीबीआई से जांच कराए जाने की मांग की जा रही है।
आंदोलन को आतंकी संगठनों के समर्थन वाले ममता के बयान की निंदा की जा रही है। महिला और युवा मोर्चा में व्यापक आक्रोश देखा जा रहा है। देश के गोरखाओं से इस आंदोलन में सहयोगी बनने का आह्वान किया जा रहा है।
डुवार्स में बंद का व्यापक असर
गोजमुमो समर्थक वाले क्षेत्रों में बंद का व्यापक असर देखा जा रहा है। चामुर्ची, जयगांव, वीरपाडा,गोरुबथान, विन्नागुड़ी, बानरहाट, अलीपुरद्वार के कई क्षेत्रों में बंद असरदार देखा जा रहा है। यहां बाजार बंद हैं। सड़कों पर गोजमुमो समर्थक झंडा लगाकर व शव रखकर आवागमन बंद कर दिया है। 
जगह-जगह रैलियां निकाली जा रही है। कहीं मौन तो कभी आक्रोश रैली का आयोजन किया जा रहा है। सड़कों पर कुछ सरकारी वाहन छोड़ निजी वाहनों का परिचालन ठप है। पुलिस अतिरिक्त पुलिस बल के साथ लगातार प्रदर्शनकारियों और बंद समर्थकों पर नजर रख रही है। आम लोग किसी प्रकार की हिंसा की आशंका से सहमे हुए है।
खुला है भूटान का गेट
जयगांव स्थित भूटान का गेट खुला हुआ है। वहां एसएसबी के साथ बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात है। हिल्स में चलने वाली ट्वॉय ट्रेन को छोड़ अन्य रेलमार्ग पर ट्रेनों का परिचालन सामान्य है।
पहाड़ पर भी बंद का असर
हिल्स के दार्जिलिंग, मिरिक, कालिम्पोंग, कर्सियांग के सभी क्षेत्रों में सभी सरकारी कायार्लय, बाजार, स्कूल, कॉलेज और सभी प्रकार के कल कारखाने बंद हैं।
शव के साथ निकली रैली
बंद के बीच पुलिस फायरिंग में मारे गए आंदोलनकारियों के शव के साथ आक्रोश रैली निकाली गई है। रैलियों को देखते हुए पुलिस और अद्र्धसैनिक बलों के साथ कई स्थानों पर बैरिकेड तैयार किया गया है। पुलिस फायरिंग में मारे गए आंदोलनकारियों के याद में गोरखालैंड समर्थकों ने दीप जलाकर श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे है वहीं गोरखाओं ने अपने अपने मोबाइल प्रोफाइल फिक्चर को भी ब्लैक कर लिया है।
दोपहर तक अप्रिय घटना नहीं
दोपहर तक किसी प्रकार की कोई अप्रिय घटना की खबर नहीं है। शुक्रवार की रात गिरफ्तार किए गये विधायक पुत्र विक्रम राई को पूछताछ के बाद छोड़ दिया गया है। आंदोलन के कारण दार्जिलिंग और डुवार्स के बंद का प्रभाव सिलीगुड़ी के व्यापार पर पड़ा है। बाजार में चहल-पहल नहीं है।
पुलिस फायरिंग में मारे गए एक आंदोलनकारी के शव को नॉर्थ बंगाल मेडिकल कॉलेज से पोस्टमार्टम के बाद लेने के लिए तराई गोजमुमो नेताओं का दल पहुंचा है। सुकना में रैली निकाले जाने को लेकर सुबह से ही पुलिस द्वारा सुरक्षा की व्यापक तैयारी की जा रही है। आंदोलन के बीच ज्यादातर स्थानों पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और ममता बनर्जी के बयानों की चर्चा हो रही है।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger