Home » » बालाघाट जिले में कर्ज से परेशान किसान ने कीटनाशक पीकर जान दी

बालाघाट जिले में कर्ज से परेशान किसान ने कीटनाशक पीकर जान दी

बालाघाट। प्रदेश शासन के कृषि मंत्री गौरीशंकर बिसेन के विधानसभा क्षेत्र के बल्लारपुर गांव में एक किसान ने कर्ज से परेशान होकर बुधवार को कीटनाशक का सेवन कर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली है। परिजनों के अनुसार मृतक किसान पर करीब दो लाख का कर्ज था। जिसके कारण वो विगत कुछ दिनों से परेशान चल रहा था। कल भी प्रदेश में तीन किसानों ने अपनी जान दे दी थी।
लालबर्रा बल्लारपुर निवासी रमेश(45) पिता चुन्नीलाल बसेने ने बुधवार को खेत में छिड़कने वाली दवा हमला 505 का सेवन कर लिया। इसकी बात की जानकारी परिजनों को दोपहर करीब 12.30 बजे उस वक्त लगी। जब रमेश खाना खाने के दौरान उल्टी करने लगा और बेहोश हो गया।
परिजनों ने उसे इलाज के लिए लालबर्रा अस्पताल में भर्ती कराया। यहां पर डॉक्टर ने बताया कि रमेश ने जहरीली वस्तू का सेवन कर लिया है। हालत गंभीर होने पर परिजनों से उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां पर इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। सूचना मिलने पर अस्पताल चौकी पुलिस, कोतवाली पुलिस, नगर पुलिस अधीक्षक व तहसीलदार मौके पर पहुंचे और उनकी मौजदूगी में पंचनामा तैयार कर परिजनों के बयान दर्ज किए गए है।
चाचा से कहा कर्ज से हो गया परेशान 
रमेश बसेने की कीटनाशक के सेवन से मौत के बाद जिला अस्पताल में उसके चाचा तुलसीराम बसेने ने बताया कि बुधवार की सुबह करीब 8 बजे रमेश उसके पास आया था। परेशान देख कारण पूछा तो उसने बताया कि चाचा सोसायटी व गांव के कुछ लोगों का करीब दो लाख रुपए का कर्जा हो गया है। जिसके कारण वो कुछ दिनों से काफी परेशान चल रहा है। इसके कारण उसने शराब भी पी हैं। जिसके बाद वो घर चला गया और कीटनाशक का सेवन कर लिया।
दो बेटियों की एक साथ की शादी 
40 डिसमिल स्वयं की खेती और बटिई की खेती कर जीवन यापन कर रहे किसान रमेश के घर पर एक बेटा व तीन बेटिया है। जिसमें बड़ी बेटी की शादी चार वर्ष पूर्व कर चुका है, और दो वर्ष पूर्व दो बेटियां संगीता और सरिता की शादी उसने कर्ज लेकर किया था। किसान की कीटनाशक के सेवन से मौत के बाद बड़ी संख्या में कांग्रेसियों ने पहुंचकर कृषि मंत्री के विधानसभा क्षेत्र में ही किसान द्वारा आत्महत्या करने की घटना को निंदनीय बताया हैं।
सहकारी बैंक ने दी सफाई किसान पर नहीं कर्ज 
रमेश बसेने की कर्ज से परेशान होकर कीटनाशक के सेवन से मौत के मामले में जहां एक और परिजन सोसायटी व अन्य लोगों का कर्ज होने की बात कह रहे है। वहीं केन्द्रीय सहकारी बैंक के महाप्रबंधक पीएम धनवाल सोसायटी के कर्ज से परेशान होकर रमेश द्वारा आत्महत्या करने की बात को सिरे से नकार दिया है। उन्होंने बताया कि रमेश के ऊपर कोई कर्ज नहीं था। वो वर्तमान में ही सोसायटी का सदस्य बना है। उसकी मां शांता बाई बसेने के ऊपर सिर्फ 25 हजार का कर्ज है, वो भी इसी वर्ष फसल ऋण के रुप में दिया गया हैं।
इनका कहना है
बल्लारपुर के किसान द्वारा कीटनाशक का सेवन कर आत्महत्या करने की सूचना पर मौके पर पहुंचकर परिजनों के बयान दर्ज किए जा रहे है। बयान दर्ज करने के बाद तथ्य सामने आने पर जांच कर कार्रवाई की जाएगी।
-मोनिका तिवारी, सीएसपी।
Share This News :
 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger