Madhya Pradesh Tourism

अपने घर का सपना देखने वालोंं के लिए खुशखबरी, 81 लाख से अधिक मकान के प्रस्‍ताव मंजूर

Wednesday, June 26, 2019

नई दिल्ली। अपने घर का सपना देखने वालों के लिए अच्‍छी खबर है। सरकार ने ऐसे 81 लाख से अधिक मकानों के प्रस्‍ताव पर मुहर लगा दी है। सरकार को सभी शहरी गरीबों को पक्का मकान देने का लक्ष्य 2020 तक पूरा करने की उम्‍मीद है। केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि इस पर कुल पांच लाख करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है।
योजना में अभी तक 48 लाख मकान निर्माणाधीन हैं। इस पर कुल सवा लाख करोड़ रुपये का निवेश होगा। योजना में हर घर में नल से पेयजल आपूर्ति, सीवरेज लाइन डालने, बारिश के पानी से निपटने वाली नालियां बनाने का लक्ष्य पूरा हो रहा है।
ये होंगी प्रमुख सुविधाएं 
पेयजल आपूर्ति के लिए 39 हजार करोड़ रुपये, सीवरेज के लिए 32 हजार करोड़ रुपये और बारिश के पानी की निकासी के लिए 3 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया। शहरी परिवहन के लिए गैर मोटर क्षेत्र में डेढ़ हजार करोड़ रुपये और पार्क के लिए पौने दो हजार करोड़ रुपये का प्रावधान है।

Continue Reading | comments

मध्यप्रदेश के मालवा पर मेहरबान हुआ मानसून, जल्द पहुंचेगा इन इलाकों में

भोपाल । दक्षिण-पश्चिम मानसून मालवा क्षेत्र में खासा मेहरबान हो गया है। मंगलवार को झाबुआ, अलीराजपुर, इंदौर, खरगोन में मानसून ने आमद दर्ज करा दी। साथ ही बैतूल, होशंगाबाद, देवास और सीहोर के कुछ हिस्सों में मानसून ने उपस्थिति दर्ज करा दी है। गुजरात पर बने एक सिस्टम से इंदौर-उज्जैन संभाग में 2-3 दिन अच्छी बरसात होने की संभावना है। भोपाल में 28 जून को मानसून दस्तक दे सकता है।
इसके पूर्व भोपाल में गरज-चमक के साथ हल्की बौछारें पड़ने के आसार हैं। मौसम विज्ञान केंद्र के विज्ञानी अजय शुक्ला ने बताया कि वर्तमान में समुद्री सतह पर पंजाब से नगालैंड तक एक द्रोणिका लाइन बनी हुई है। जो दक्षिणी हरियाणा,दक्षिणी उप्र, बिहार, बंगाल का गंगा नदी वाला क्षेत्र से होकर गुजर रही है। इसके अतिरिक्त गुजरात,उत्तरी महाराष्ट्र और पश्चिम मप्र पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। सिस्टम से मप्र में मानसून को ऊर्जा मिल रही है।
आंधी-बारिश से दो की मौत 
मालवा-निमाड़ अंचल में लगातार तीसरे दिन मंगलवार को आंधी के साथ बारिश का सिलसिला चला। उज्जैन और बड़वानी में दो लोगों की जान चली गई। केले की फसल को भी नुकसान पहुंचा है। झाबुआ में अब तक चार इंच से अधिक बारिश हो चुकी है। धार जिले में बारिश ग्राम तीसगांव में सड़क निर्माण के तहत बनाई पुलिया ने स्टॉपडेम का काम किया। रहवासी इलाके में पानी पहुंच गया।
Continue Reading | comments

त्राल के जंगलों में सुरक्षा बलों ने आतंकियों को घेरा, मुठभेड़ जारी

पुलवामा। जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल के जंगलों में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है। बताया जा रहा है कि जंगलों में 2 आतंकी हो सकते हैं। हालांकि अब तक उनकी सही संख्या की जानकारी सामने नहीं आई है।
सामने आ रही जानकारी के मुताबिक 42 राष्ट्रीय रायफल्स के साथ ही स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप भी आतंकियों से लोहा ले रहा है। आतंकियों के जंगल में होने की जानकारी मिलने के बाद सीआरपीएफ की 180 वीं बटालियन मौके पर पहुंच गई थी। उसके बाद से ही मुठभेड़ जारी है।
बता दें कि पुलवामा हमले के बाद से ही सेना ने विशेष अभियान चलाया हुआ है और घाटी से आतंकियों का सफाया कर रही है। इससे बौखलाए आतंकी आए दिन सेना के जवानों पर हमला करने की फिराक में रहते हैं।
पुलवामा में जैश ए मोहम्मद के आतंकी द्वारा किए गए हमले में शहीद हुए सेना के 40 जवानों के बाद से ही सेना का कड़ा रुख घाटी में आतंकवाद को खत्म करने को लेकर बना हुआ है।
Continue Reading | comments

बांग्लादेश में ट्रेन दुर्घटना, पांच की मौत, 67 घायल, 20 की हालत गंभीर

Tuesday, June 25, 2019

ढाका। बांग्लादेश में एक भीषण रेल हादसे की खबर सामने आई है। यहां के पूर्वोत्तर क्षेत्र में एक यात्री ट्रेन दुर्घटना में पांच लोगों की मौत हो गई, वहीं 67 लोग घायल हो गए।
ट्रेन हादसे में 5 लोगों की मौत हुई है। इनमें दो महिलाएं और तीन पुरुष हैं। घायलों में 20 की हालत गंभीर है। दो कोच नहर में गिर गए।
दुर्घटना से सिलहट और देश के बाकी हिस्सों के बीच रेल सेवा बाधित हो गई। यह हादसा उस समय हुआ जब सिलहट से ढाका जाने वाली उपबन एक्सप्रेस के 5 कोच मौलवी बाजार में पटरी से उतर गए।
मौलवी बाजार के सिविल सर्जन शाहजहां कबीर ने बताया कि सभी का इलाज सिलहट एमएजी उस्मानी मेडिकल कॉलेज में चल रहा है।
एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मदद के लिए बचाव दल की 11 इकाइयां पुलिस कर्मियों के साथ दुर्घटनास्थल पर राहत कार्य में जुटी हुई हैं।

Continue Reading | comments

जल्द जेल से बाहर होगा राम रहीम, सरकार नहीं करेगी पैरोल का विरोध

चंडीगढ़। क्या साध्वी यौन शोषण प्रकरण में रोहतक की सुनारिया जेल में सजा काट रहा गुरमीत राम रहीम जल्द सलाखों से बाहर होगा? ताजा घटनाक्रम तो इसी ओर इशारा कर रहा है। हाल ही में राम रहीम ने पैरोल की याचिका लगाई है और अब खबर है कि प्रदेश सरकार इसका विरोध नहीं करेगी। बता दें, नियमानुसार एक साल की सजा काट चुका कैदी पैरोल की मांग कर सकता है। इसी को आधार बनाते हुए राम रहीम ने सिरसा स्थित जमीन पर खेतीबाड़ी करने के लिए पैरोल मांगी है।
इसके बाद पुलिस अधीक्षक ने अपनी रिपोर्ट स्थानीय उपायुक्त को भेज दी है जिस पर अब मंडलायुक्त फैसला लेंगे। सरकार ने अंतिम फैसला मंडलायुक्त पर छोड़ दिया है। हालांकि रिपोर्ट में कहा गया है कि राम रहीम की अपने नाम पर कोई जमीन नहीं है। वह आश्रम और संस्था की जमीन पर खेती करना चाहता है।
खबर है कि जेल प्रशासन राम रहीम के अच्छे बर्ताव और जेल में किसी से विवाद नहीं होने का हवाला देकर पैरोल देने के लिए राजी हो गया है। इससे पहले राम रहीम ने अप्रैल में सिरसा में एक शादी समारोह में शामिल होने के लिए रिहाई मांगी थी। हालांकि हाई कोर्ट में लगी यह याचिका उसने बाद में वापस ले ली थी।
कुछ लोग इसे हरियाणा में अक्टूबर में होने वाले विधानसभा चुनाव से जोड़ रहे हैं। कहा जा रहा है कि सरकार डेरामुखी को राहत देकर डेरे से जुड़े बड़े वोट बैंक को साधने की कोशिश कर रही है। हालांकि प्रदेश की खट्टर सरकार में मंत्री अनिव विज का कहना है कि हर चीज को चुनाव से जोड़ना गलत है। अगर चुनाव मसला होता तो लोकसभा चुनावों में ही डेरामुखी को छोड़ दिया गया होता। कानून में पैरोल का प्रावधान है। फांसी की सजा वाले दोषी को भी पैरोल मिल सकती है। मौजूदा सरकार कानून से चलती है और जो कानून कहेगा, सरकार वही करेगी। कोई विशेष राहत नहीं दी जाएगी।

Continue Reading | comments

लोकसभा में पेश हुआ आधार के स्वैच्छिक इस्तेमाल का विधेयक

नई दिल्ली। लोकसभा में सोमवार को एक विधेयक पेश किया गया। यह विधेयक आधार अधिनियम 2016 में संशोधन करेगा और मार्च में जारी अध्यादेश की जगह लेगा।
बैंक खाता खोलने और मोबाइल फोन कनेक्शन लेने के लिए आइडी प्रूफ के रूप में आधार का इस्तेमाल करने की अनुमति देने के लिए यह बिल प्रस्‍तुत किया गया है।
नियमों का उल्लंघन करने पर कठोर दंड लगाने का प्रस्ताव भी किया गया है। आधार इस्तेमाल के लिए तय नियमों और निजता का उल्लंघन करने पर कठोर दंड का प्रावधान किया गया है।
विधेयक में आधार अधिनियम की धारा 57 को हटाने का प्रस्ताव किया गया है। RSP के एनके प्रेमचंद्रन ने विधेयक का विरोध करते हुए कहा कि यह विधेयक सुप्रीम कोर्ट के आधार पर दिए गए फैसले की भावना के खिलाफ है।
उन्होंने दावा किया कि निजी उद्यम आधार डाटा पर कब्जा कर सकते हैं और बुनियादी अधिकार खास तौर से निजता के अधिकार का उल्लंघन होगा।
प्रेमचंद्रन की आपत्तियों को खारिज करते हुए केंद्रीय सूचना एवं तकनीकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि आधार एक वैध कानून है।
उन्होंने कहा कि 60 करोड़ से ज्यादा लोग आधार के माध्यम से मोबाइल सिम कार्ड खरीद चुके हैं और अब यह अनिवार्य नहीं है।
इसके माध्यम से आधार संख्या धारण करने वाले बालकों को 18 वर्ष की उम्र पूरी करने पर आधार संख्या निरस्‍त करने का विकल्प देना है।बैंक खाता खोलने और मोबाइल फोन संपर्क हासिल करने के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकेगा।

Continue Reading | comments

चार धाम के हेलीकॉप्टर टिकटों की बुकिंग अब सिर्फ GMVN करेगा

देहरादून। चारधाम यात्रा और केदारनाथ धाम में संचालित हेली सेवाओं को लेकर एक काम की खबर है। टिकटों की धांधली को रोकने के लिए अब प्रशासन ने नया तरीका आजमाया है।
इसके अनुसार ये टिकट अब सिर्फ गढ़वाल मंडल विकास निगम के जरिए बुकिंग किए जाएंगे।
इसे एक सितंबर सेप्रभावी रूप से लागू कर दिया जाएगा। इससे टिकटों की बुकिंग में सौ फीसद पारदर्शिता आने की उम्मीद है।
सोमवार को पर्यटन सचिव एवं उत्तराखंड नागरिक उड्डयन विकास प्राधिकरण के CEO दिलीप जावलकर ने हेली ऑपरेटरों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि टिकटों की बुकिंग में पारदर्शिता लाने के उद्देश्य से यह फैसला किया गया है।
नई व्‍यवस्‍था में यह होगा खास 
सीईओ ने ऑपरेटरों को बताया कि टिकटों की बुकिंग ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से की जा सकेगी। इसमें 70 फीसद ऑनलाइन और 30 फीसद बुकिंग ऑफलाइन होगी।
उन्होंने कहा कि नई व्यवस्था लागू होने के एक सप्ताह बाद समीक्षा की जाएगी। चार्टर बुकिंग के लिए सॉफ्टवेयर तैयार किया गया है, जिसका जल्‍द ही ट्रायल किया जाएगा। प्रमुख ट्रेवल ऑपरेटर्स के साथ भी एक बैठक की गई।

Continue Reading | comments

सरकारी नौकरी के लिए यहां करें अप्लाई, ढेरों है वैकेंसी

सरकारी नौकरी चाहने वाले युवाओं के लिए काफी मौके हैं। युवाओं को मनचाही नौकरी पाने के लिए सही मौके का इंतजार करने के साथ हमेशा अलर्ट और अपडेट रहना होगा। यहां सरकारी विभागों में रिक्तियों से संबंधित जानकारी आप देख पाएंगे। पढ़िए Live Updates
UPSC Recruitment 2019: संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने सिस्टम एनालिस्ट, कंपनी प्रॉसीक्यूटर और अन्य सहित 13 पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। पात्र उम्मीदवार 11 जुलाई 2019 को या उससे पहले निर्धारित प्रारूप के माध्यम से पद पर आवेदन कर सकते हैं।
Northern Railway Job 2019: उत्तर रेलवे ने रेलवे क्लेम ट्रिब्यूनल, चंडीगढ़ के लिए डाटा एंट्री ऑपरेटर पदों की भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। पात्र उम्मीदवार 4 जुलाई 2019 को या उससे पहले निर्धारित प्रारूप में पद के लिए आवेदन कर सकते हैं। ग्रेजुएट्स इन पदों के लिए अप्लाई कर सकते हैं। चयनित उम्मीदवार को 25 हजार रुपए सैलरी मिलेगी।
Central Institute for Cotton Research (CICR) Recruitment 2019: सेंटर इंस्टीट्यूट ऑफ कॉटन रिसर्च ने यंग प्रोफेशल्स I और II पदों के लिए आवेदन आमंत्रित किए हैं। इन पदों के लिए 4 जुलाई को वॉक-इन-इंटरव्यू में शामिल हो सकते हैं। 

Continue Reading | comments

संविधान के दायरे में हुर्रियत के साथ बातचीत के दरवाजे खुले हैं : बीजेपी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने दो दिन पहले संकेत दिए थे कि अलगाववादी हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नेता बातचीत के लिए तैयार हैं। इस मामले में अब भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर के प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने श्रीनगर में जो लोग संविधान के दायरे में आकर संविधान पर विश्वास जताते हुए बात करना चाहते हैं, उनसे बातचीत के लिए हमारे दरवाजे खुले हैं।
उनकी यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है, जब हुर्रियत के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारूक ने कहा है कि यदि नई दिल्ली की तरफ से सार्थक संवाद शुरू किया जाता है, तो हुर्रियत सकारात्मक जवाब देगी। श्रीनगर में एक कार्यक्रम से इतर बोलते हुए अविनाश राय खन्ना ने कहा कि केंद्र की ओर से कोई औपचारिक प्रस्ताव नहीं है। मैं जो कह रहा हूं, वह एक प्रस्ताव है। देश के संविधान में विश्वास पैदा करें और कानून व व्यवस्था की स्थिति बनाए रखने में सहायता करें, फिर हम बात कर सकते हैं।
उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में ऐसा माहौल बनाया है कि कोई भी व्यक्ति शांति प्रक्रिया में योगदान दे सकता है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में केंद्रीय गृह मंत्रालय संभालने के चलते खन्ना की टिप्पणी महत्व रखती है।
केंद्र सरकार से बातचीत के लिए अलगाववादी संगठन हुर्रियत के नरम रुख का घाटी के क्षेत्रीय दलों ने स्वागत किया है। जहां एक ओर पीडीपी और नेकां ने इस बातचीत को आगे ले जाने पर जोर दिया है। वहीं, भाजपा ने स्पष्ट कहा कि जो भी भारतीय संविधान के दायरे में रह कर बातचीत करना चाहता है, उसके लिए केंद्र के दरवाजे हमेशा खुले हैं।
पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने कहा कि हुर्रियत के बातचीत को लेकर अपनाए नरम रुख से उन्हें राहत मिली है। ट्विटर पर महबूबा ने लिखा- पीडीपी-भाजपा गठबंधन का अंतर्निहित उद्देश्य भारत सरकार और सभी हितधारकों के बीच बातचीत को सुविधाजनक बनाना था। सीएम के रूप में अपने कार्यकाल में मैंने ऐसा करने की पूरी कोशिश की। राहत की बात है कि हुर्रियत ने आखिरकार अपना रुख नरम कर लिया है।

Continue Reading | comments

अब चलती ट्रेन में मिलेगी Wi-Fi सुविधा, ये है पूरी योजना

Monday, June 24, 2019

नई दिल्ली। बहुत जल्‍द ही यात्रियों को ट्रेनों के भीतर वाई-फाई की सुविधा मिल सकेगी। रेलवे इसके लिए तैयारी में जुटा है। इसके लिए रेलवे अपना खुद का स्पेक्ट्रम हासिल करेगा।
ये सुविधा व्यस्त नौकरी पेशा लोगों के लिए वरदान साबित होगी। वे सफर के दौरान कार्यों को ट्रेन के अंदर से ही निपटा सकेंगे।
अभी तक रेलवे ने 1603 स्टेशनों को वाई-फाई से लैस किया है, जबकि 4882 स्टेशनों पर काम चल रहा है। वंदे भारत जैसी अत्याधुनिक ट्रेन के भीतर सार्वजनिक उद्घोषणा के लिए लगाए गए टीवी मानीटर्स पर आगामी और मौजूदा स्टेशनों के बारे में लाइव सूचनाएं भी प्रसारित नहीं हो पा रही हैं।
ट्रेन के भीतर वाई-फाई सुविधा मिलने से ये संभव हो जाएगा। रेलवे इसके लिए अपना खुद का स्पेक्ट्रम लेने का प्रयास कर रहा है।
सरकार से स्पेक्ट्रम प्राप्त होते ही रेलवे जगह-जगह पर मोबाइल टॉवर स्थापित करेगा और ऑप्टिकल फाइबर केबल (ओएफसी) के साथ जोड़ेगा। अभी स्टेशनों पर वाई-फाई के लिए निजी कंपनियों के स्पेक्ट्रम और सेट-अप का उपयोग किया जाता है।
नौकरी पेशा लोगों के बहुत से काम हो जाएंगे आसान स्टेशनों के बीच और ट्रैक के साथ-साथ मजबूत वाई-फाई तरंगों की उपलब्धता होने से ट्रेन के भीतर इंटरनेट सर्फिंग आसान हो जाएगी और बार-बार बफरिंग की समस्या से निजात मिलेगी।
इस सुविधा से यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और ट्रेन हादसों पर अंकुश लगाने में भी मदद मिलेगी। कोच के भीतर लगे सीसीटीवी कैमरों की लाइव फुटेज की कंट्रोल रूम से रियल टाइम निगरानी होने से अवांछित तत्वों को नियंत्रण में लेना आसान हो जाएगा।
वाई-फाई का उपयोग करते हुए भविष्य में ट्रेन प्रोटेक्शन एंड वार्निंग सिस्टम के जरिए ट्रेन दुर्घटनाओं को रोकने में मदद मिलेगी। अभी जीपीएस आधारित इस यूरोपीय प्रणाली को महज इसीलिए नहीं अपनाया जा पा रहा है, क्योंकि ट्रैक के साथ वाई-फाई सुविधा नहीं होने से तरंगें बाधित हो जाती हैं
Continue Reading | comments

स्मृति ईरानी अमेठी में बनाएंगी घर, जनता के करीब रहने के लिए लिया फैसला

अमेठी। चुनाव के फिर से अपने संसदीय क्षेत्र अमेठी के दौरे पर पहुंची स्मृति ईरानी ने दूसरे दिन भी यहां कईं कार्यक्रमों में हिस्सा लिया। फिर चाहे वो गोद भराई की रस्म हो या फिर विकास कार्यों की समीक्षा बैठक। इस बीच एक ऐसी खबर आई है जो थोड़ी चौकाने वाली है। दरअसल, स्मृति ईरानी ने अब अमेठी में ही बसने का फैसला कर लिया है।
खबरों के अनुसार केंद्रीय मंत्री ने शनिवार को घोषणा की कि वो जल्द ही अमेठी में बसने जा रही हैं और इसके लिए उन्होंने गौरीगंज में घर बनाने के लिए जमीन भी देख ली है। उन्होंने यह घोषणा उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री और पीडब्ल्यूडी मंत्री केशव प्रसाद मौर्य की मौजूदगी में तब किया जब को 30 करोड़ की लागत के एक सड़ प्रोजेक्ट का उद्घाटन कर रही थीं।
अपने इस कदम से स्मृति ईरानी ने सभी को चौंका दिया साथ ही यह भी दिखा दिया कि वो ऐसा कुछ करने जा रही हैं जो पिछले डेढ़ दशक में राहुल गांधी नहीं कर सके। उन्होंने इस दौरान अपने संबोधन में कहा कि अब अमेठी उनका स्थायी निवास होगा और उनके घर के दरवाजे हर शख्स के लिए खुले रहेंगे।
साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जन लोगों ने राहुल गांधी को वोट दिया उन्हें भी सरकार की हर योजना का फायदा मिलेगा और विकास के कार्यों से जोड़ा जाएगा।

Continue Reading | comments

पुलवामा हमले के बाद पाक को समुद्र से भी सबक सिखाने की थी तैयारी

नई दिल्ली। पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमले के बाद भारत ने समुद्र के रास्ते भी पाकिस्तान को सबक सिखाने की तैयारी कर ली थी। भारत ने नौसेना को युद्धाभ्यास से हटाने के साथ ही परमाणु व पारंपरिक हथियारों से लैस पनडुब्बियों को पाकिस्तान की समुद्री सीमा के पास तैनात कर दिया था। भारत की तरफ से पनडुब्बियों की आक्रामक तैनाती से पाकिस्तान को लग रहा था कि भारत किसी भी वक्त नौसेना को बदले की कार्रवाई का आदेश दे सकता है।
गौरतलब है पुलवामा में जैश-ए-मुहम्मद के हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स (सीआरपीएफ) के 40 जवान शहीद हो गए थे। इस हमले के जवाब में भारत ने 26 फरवरी को पाकिस्तान के बालाकोट में जैश के आतंकी शिविरों पर हवाई हमला किया था जिसमें बड़ी संख्या में आतंकी मारे गए थे। बालाकोट हमले के बाद भारत लगातार पाकिस्तानी सेना पर नजर रख रहा था। वह पाकिस्तान के किसी भी हिमाकत का प्रतिकूल और दोहरी शक्ति से जवाब देने की तैयारी में था।
बालाकोट में हवाई हमले के तुरंत बाद पाकिस्तान की सबसे आधुनिक मानी जाने वाली अगोस्टा श्रेणी की पनडुब्बी- पीएनएस साद, उसके जल क्षेत्र से गायब हो गई थी। लंबे समय तक पानी के भीतर रहने की क्षमता वाली इस पनडुब्बी के गायब होने के साथ ही भारतीय नौसेना अत्यधिक सतर्क हो गई थी। सूत्रों के मुताबिक पीएनएस साद पनडुब्बी कराची के पास से गायब हुई थी, जहां से वह तीन दिनों में गुजरात के तट तक पहुंच सकती थी। इसके अलावा वह पांच दिन में मुंबई स्थित नौसेना के पश्चिमी कमान के मुख्यालय पर भी पहुंच सकती थी, जो देश के लिए बड़े सुरक्षा खतरे की बात हो सकती थी।
भारतीय नौसेना पाकिस्तान की पनडुब्बी का पता लगाने के लिए सक्रिय हो गई थी। पनडुब्बी रोधी हथियारों से लैस युद्धपोत और विमानों को उसकी खोज में लगाया गया था। पी-8आईएस को समुद्र तटों पर पाकिस्तानी पनडुब्बी के खोजी अभियान में लगाया गया था इसके साथ ही परमाणु हथियारों से युक्त आईएनएस चक्र और स्कॉर्पीन श्रेणी की पनडुब्बी आईएनएस कलवरी को भी पाकिस्तानी पनडुब्बी की तलाश में लगाया गया था। आखिर में 21 दिनों के बाद यह पनडुब्बी पाकिस्तान के पश्चिमी हिस्से में मिली। हकीकत में पाकिस्तान ने इसे सुरक्षित रखने के लिए भारत की नजरों से छिपाया था।
पुलवामा और बालाकोट के बाद पाकिस्तान के साथ तनाव बढ़ने के बाद भारतीय नौसेना ने 60 से ज्यादा युद्धपोतों को उत्तरी अरब सागर में तैनात कर दिया था। इसमें विमान वाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य भी शामिल था। सूत्रों ने बताया कि अरब सागर में नौसेना पूरी तरह से सजग है। खासकर पाकिस्तानी समुद्री सीमा पर उसकी पैनी नजर बनी हुई है। वह पाकिस्तान की नौसेना की हर गतिविधि पर नजर रख रही है।

Continue Reading | comments

रिटायरमेंट से 6 महीने पहले ही रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने दिया इस्तीफा

मुंबई। अपने रिटायरमेंट के 6 महीने पहले ही रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। 7 महीने में यह दूसरी बार है जब रिजर्व बैंक के किसी अधिकारी ने इस तरह से इस्तीफा दिया है। इससे पहले गवर्नर उर्जित पटेल ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।
रिटायरमेंट के 6 महीने पहले इस्तीफा देने वाले विरल आचार्य भी उर्जित पटेल की टीम का हिस्सा थे। 23 जनवरी 2017 को केंद्रीय बैंक जॉइन करने वाले विरल ईकोनॉमिक लिबरेशन के बाद सबसे युवा डिप्टी गवर्नर थे।
खबरों के अनुसार पद से इस्तीफा देने के बाद विरल न्यूयॉर्क जाएंगे और वहां न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी में पढ़ाएंगे। उनका परिवार वहीं रहता है। बताया जाता है कि उर्जित पटेल के इस्तीफे के बाद से ही विरल आचार्य भी खुद को काफी असहज महसूस कर रहे थे। पिछली दो मौद्रीक नीति की समीक्षा बैठकों में उनके विचार गवर्नर के विचारों से भिन्न रहे थे।

Continue Reading | comments

देश में निजी क्षेत्र की पहली ट्रेन लखनऊ से दिल्ली के बीच चलेगी

Saturday, June 22, 2019

लखनऊ। देश की पहली निजी ट्रेन लखनऊ से दिल्ली के बीच चलेगी। रेलवे बोर्ड ने 100 दिन के एक्शन प्लान के तहत देश की दो प्रीमियम ट्रेनों को निजी क्षेत्र की मदद से दौड़ाने की योजना बनाई है। हालांकि ट्रेन के रूट को लेकर फिलहाल कोई निर्णय नहीं हुआ है। दूसरी ट्रेन दक्षिण भारत में चलाए जाने की संभावना है। इसमें तेजस एक्सप्रेस के लिए बनने वाले नए कोच लगाए जाएंगे। शुरुआत में ट्रेन की टिकटिंग, बोर्डिंग और खानपान की जिम्मेदारी रेलवे की संस्था भारतीय रेलवे खानपान पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) की होगी। इसे बाद में एक्सप्रेशन ऑफ इंट्रेस्ट के जरिए ऊंची बोली लगाने वाली निजी कंपनी को यह काम सौंपा जाएगा।
इस ट्रेन को चलाने का जिम्मेदारी जोनल रेलवे की जगह आईआरसीटीसी को देने के लिए बोर्ड मुख्यालय में एक बैठक भी हो चुकी है। आईआरसीटीसी ट्रेन के कोच लीज पर रेलवे बोर्ड से लेगा। इस पर अंतिम निर्णय एक सप्ताह के भीतर होगा।
इस तरह से लगेगी बोली
रेलवे का काम कोच तैयार कर आईआरसीटीसी को सौंपने और अपने क्रू मेंबर मुहैया कराने का होगा। ट्रेन का नाम भी आइआरसीटीसी तय करेगा। इसके बाद किराया, रखरखाव और कोच को रखे जाने के खर्च का अध्ययन कर आईआरसीटीसी इसे निजी क्षेत्र में चलाने के लिए एक न्यूनतम बोली तय करेगा। जिस कंपनी को यह जिम्मेदारी दी जाएगी वह अपनी आय का एक हिस्सा रेलवे को देगी। जबकि आईआरसीटीसी को एक तय फीस मिलेगी। कंपनी कॉमर्शियल गतिविधियों से भी कमाएगी। इसको लेकर एक सप्ताह में रेलवे बोर्ड विस्तृत गाइडलाइन जारी करेगा। रेलवे बोर्ड नहीं।
आईआरसीटीसी तय करेगा किराया
रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक अभी आईआरसीटीसी गतिमान एक्सप्रेस की तर्ज पर पांच सितारा होटल से खानपान की सुविधा देगा। ट्रेन का किराया भी रेलवे बोर्ड की जगह आइआरसीटीसी तय करेगा। इस ट्रेन में किराए में किसी तरह की छूट नहीं मिलेगी। इसका किराया शताब्दी एक्सप्रेस से अधिक जरूर होगा, लेकिन सुविधाएं विमानों से बेहतर दी जाएंगी। आइआरसीटीसी अपनी वेबसाइट पर इस ट्रेन के टिकट बेचेगा और आरक्षण चार्ट बनाने के साथ टीटीई तैनात करेगा। पहले ट्रेन की ब्रांडिंग आइआरसीटीसी करेगा। जबकि निजी क्षेत्र में आने के बाद यह काम कंपनी का होगा।

Continue Reading | comments

पेट्रोल के दाम में राहत लगातार जारी, डीजल की कीमत का यह है अपडेट

नई दिल्ली। मानसून की बारिश अब देश में छाने लगी है और इसी गर्मी से मिली राहत के साथ ही पेट्रोल और डीजल के दामों में राहत भी जारी है। पिछले 6 दिनों से पेट्रोल के दामों में कोई बदलाव नहीं हुआ था। बुधवार को भी पेट्रोल की कीमत के मामले में कुछ ऐसा ही हाल रहा। वहीं डीजल की कीमतों में बुधवार को 6 पैसे की कमी के बाद पिछले दो दिनों से इसमें भी कोईं बदलाव नहीं हुआ है।
इसके बाद राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 69.93 रुपए लीटर मिल रहा है वहीं डीजल 63.78 रुपए लीटर मिल रहा है। इंदौर की बात करें तो यहां पेट्रोल 73.15 रुपए लीटर मिल रहा है वहीं डीजल के दाम 65.22 रुपए लीटर मिल रहा है। इसी तरह रायपुर में पेट्रोल 68.63 रुपए लीटर है जबकि डीजल के दाम 67.08 रुपए लीटर हैं।
मुंबई में पेट्रोल 75.63 रुपए लीटर मिल रहा है वहीं डीजल 66.87 रुपए लीटर मिल रहा है। चेन्नई में पेट्रोल 72.64 रुपए लीटर मिल रहा है जबकि डीजल 67.46 रुपए लीटर मिल रहा है। कोलकाता में पेट्रोल 72.19 रुपए लीटर मिल रहा है जबकि डीजल 65.70 रुपए लीटर बिक रहा है।
इससे पहले रविवार को पेट्रोल जहां 6 पैसे सस्ता हुआ था वहीं डीजल के दाम 9 पैसे कम हुए थे। बता दें कि इससे पहले 12 जनवरी को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 69.75 रुपए थी वहीं डीजल 13 जनवरी को 63.69 रुपए लीटर मिल रहा था।

Continue Reading | comments

आम आदमी से दूर हुआ सोना, पहली बार 35000 रुपए के पार

रायपुर। अंतरराष्ट्रीय मार्केट के प्रभाव से सोने-चांदी की कीमत में शुक्रवार को विपरीत प्रभाव देखने को मिला। गुरुवार को ही नए रिकार्ड बनाने की ओर अग्रसर सोना शुक्रवार को अपने नए शिखर पर पहुंचा गया और पहली बार 35000 पार हो गया। हालांकि चांदी की कीमतों में गिरावट आई। इसका प्रभाव घरेलू मार्केट में भी देखने को मिला।
शुक्रवार को सोना 500 रुपये की तेजी के साथ 35250 रुपये प्रति दस ग्राम(स्टैंडर्ड) तथा चांदी 300 रुपये फिसलकर 38700 रुपये रही। सराफा विशेषज्ञों का कहना है कि सोने की कीमतों में अभी तेजी के ही संकेत बने हुए है। सराफा विशेषज्ञों द्वारा बताया जा रहा है कि वायदा सौदे में भी सोने की चमक काफी बढ़ती जा रही है।
इसका प्रभाव भी कीमतों में देखा जा रहा है। भले ही बाजार में ग्राहकी थोड़ी सुस्त पड़ गई है लेकिन कीमतों में तेजी का ही रुख बना हुआ है। कारोबारियों का कहना है कि पिछले साल की अपेक्षा इस साल सराफा कारोबार में बढ़ोतरी हुई है।
गोल्ड लोन देने वाली कंपनियों ने भी अपनी मार्केटिंग पॉलिसी में बदलाव करने लगी है। कीमतों में तेजी का सराफा बाजार में अब यह प्रभाव भी आ रहा है कि भले ही निवेशक थोड़े बढ़ने लगे है कि कारोबारी डिमांड के अनुसार ही माल मंगाने लगे हैं।

Continue Reading | comments

Please Help

Please Help
I can’t hold back my tears. Please save my son.

Film Directory Form

देश

दुनिया

मनोरंजन

मध्यप्रदेश / छत्तीसगढ़

 
Site Link : Contact Us | sitemap
Copyright © 2013. khabrokakhulasa.com | Latest News in Hindi,Hindi News,News in Hindi - All Rights Reserved
Template Modify by Unreachable
Proudly powered by Blogger